DA Image
6 दिसंबर, 2020|7:27|IST

अगली स्टोरी

साफ-सुथरे हुए हिंडन नदी के किनारे

मंगलवार को हिंडन सेवा कार्य को एक महीना पूरा हो गया। सफाई का कार्य जारी रहा। इसके साथ ही हिंडन के किनारे साथ-सुथरे दिखने लगे हैं।

निर्मल हिंडन कार्यक्रम के तहत कमिश्नर डॉ. प्रभात कुमार के निर्देशन में 22 अप्रैल को हिंडन सेवा का कार्य शुरू हुआ था। इस कार्य को मंगलवार को एक माह पूरा हो गया। इस दौरन नदी से लाखों टन मलबा और जलकुंभी बाहर निकाली गई है। हजारों हाथों ने इस कार्य में सहयोग किया।

हिंडन मित्र रमन त्यागी ने बताया कि जहां एक ओर हिंडन के किनारों से गंदगी हटाकर उनको साफ-सुथरा बनाने का कार्य किया गया वहीं दूसरी ओर गंदगी और जलकुंभी निकालने का कार्य भी किया गया। इसी के साथ कृषि विभाग की टीम ने कृषि वैज्ञानिक शिवकुमार के नेतृत्व में निकाली गई जलकुंभी पर उसकी खाद बनाने के उद्देश्य से उस पर बूस्टर का स्प्रे किया। कमिश्नर डॉ. प्रभात कुमार ने हिंडन सेवा के एक माह पूरा होने पर सभी को धन्यवाद दिया। कहा कि आज हिंडन सेवा के एक माह पश्चात जहां नदी साफ नजर आने लगी है वहीं उसके किनारे भी साफ-सुथरे हो गए हैं। जहां एक माह पूर्व जलकुंभी और गंदगी की भरमार थी, वहीं आज वहां गंदगीमुक्त हिंडन नजर आने लगी है।

पिछले एक माह में हिंडन सेवा के लिए नेहरू युवा केंद्र, कदम फाउंडेशन, सारथी संस्था, विभिन्न गांवों के किसानों और मंडलायुक्त कार्यालय के कर्मचारियों व अधिकारियों ने भी भाग लिया है। कल्याणपुर, आलमगिरपुर, उखलीना, किनौनी, नारंगपुर, लाहौरगढ़, रासना, रसूलपुर, मिर्जापुर और पुरा महादेव आदि गांवों के प्रधानों और किसानों ने जहां श्रमदान में भाग लिया वहीं रासना, मिर्जापुर, नारंगपुर और लाहौरगढ़ गांव के किसानों के समूह गांव-100 ने वहां भंडारे की व्यवस्था संभाली।

मेरठ और बागपत जनपद के विभिन्न गांवों के सफाई कर्मचारियों, नगर पंचायतों व नगर पालिका के सफाई कर्मचारियों और दोनों जनपदों के अधिकारियों व कर्मचारियों ने भी हिंडन सेवा में बढ़-चढ़ कर भाग लिया। नगर निगम मेरठ सहित नगर पंचायतों व नगर पालिकाओं की मशीनों ने भी हिंडन सेवा में अपनी भूमिका निभाई। एडीएम मेरठ और बागपत के साथ ही बीडीओ पिलाना, डीडीओ बागपत, डीपीआरओ मेरठ, गांवों के सचिव, हिंडन मित्र राजीव त्यागी, अमरीश कुमार, नरेन्द्र, सोनू कुमार, अनुभव राठी, शुभम कौशिक, शरणवीर सिंह, दिनेश कुमार आदि ने कार्य में सहयोग किया।