DA Image
23 सितम्बर, 2020|2:36|IST

अगली स्टोरी

मेरठ : निजीकरण के विरोध में उतरे बिजलीकर्मी, आंदोलन की चेतावनी

मेरठ : निजीकरण के विरोध में उतरे बिजलीकर्मी, आंदोलन की चेतावनी

पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के निजीकरण के सरकार के निर्णय के विरोध में मंगलवार को विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति की बैठक हुई। पश्चिमांचल के समिति पदाधिकारियों ने फैसले को वापस लेने की मांग की। तीन सितंबर को धरना-प्रदर्शन का निर्णय लिया। मंगलवार को हुई बैठक में बिजली कर्मचारियों, संविदा कर्मियों, जूनियर इंजीनियरों और अभियंताओं ने निजीकरण के प्रस्ताव को निरस्त करने की मांग की।

संघर्ष समिति पदाधिकारियों ने चेतावनी दी कि यदि फैसला वापस न लिया तो ऊर्जा निगमों के तमाम बिजली कर्मचारी, जूनियर इंजीनियर व अभियंता अनिश्चितकालीन आंदोलन शुरू करने के लिए बाध्य होंगे। मुख्यमंत्री से अपील की कि वह इस मामले में प्रभावी हस्तक्षेप करें। समिति संयोजक शैलेंद्र दुबे ने बताया कि तीन सितंबर से प्रत्येक कार्य दिवस में विरोध सभाएं होंगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Meerut electricity workers protesting against privatization warning of movement