DA Image
2 दिसंबर, 2020|6:01|IST

अगली स्टोरी

चुनाव को लेकर मेरठ बार और एल्डर्स कमेटी आमने-सामने

default image

मेरठ बार एसोसिएशन के चुनाव को लेकर मेरठ बार के महामंत्री और बार काउंसिल ऑफ यूपी की ओर से गठित एल्डर्स कमेटी आमने-सामने आ गई हैं। बार एसोसिएशन के महामंत्री नरेश दत्त शर्मा ने एल्डर्स कमेटी की ओर से जारी चुनाव कार्यक्रम को मंगलवार को अवैध घोषित कर दिया। उन्होंने कहा कि बार एसोसिएशन चुनाव, चुनाव मंडल की ओर से जारी कार्यक्रम के तहत ही होंगे। उधर, एल्डर्स कमेटी का कहना है कि कार्यकाल समाप्त होने के बाद प्रबंध समिति अस्तित्व में नहीं है।

मंगलवार को मेरठ बार एसोसिएशन के महामंत्री नरेशदत्त शर्मा ने बताया कि उत्तर प्रदेश बार काउंसिल द्वारा बनाई गई एल्डर्स कमेटी द्वारा 21 सितंबर को मेरठ बार एसोसिएशन की प्रबंध समिति का चुनाव करने की घोषणा की है। इस बाबत चुनाव आचारसंहिता भी जारी की है। साथ ही एक निष्कासित सदस्य नरेंद्र शर्मा की बहाली का प्रस्ताव पारित किया है। उन्होंने कहा कि मेरठ बार एसोसिएशन सोसाइटी रजिस्ट्रेशन एक्ट के तहत एक पंजीकृत संस्था है, जिस पर कोई भी अधिकार उत्तर प्रदेश बार काउंसिल को एल्डर्स कमेटी गठित कर चुनाव कराने का नहीं है। बार काउंसिल को एक पत्र 17 जुलाई को भेजा जा चुका है। एल्डर्स कमेटी के कार्यकारी चेयरमैन कुलवंत सिंह को कोई अधिकार ना तो मेरठ बार एसोसिएशन मेरठ की आमसभा बुलाने का है और ना ही कमेटी को कोई अधिकार निष्कासित सदस्य की सदस्यता को बहाल करने का है। एल्डर्स कमेटी द्वारा पारित प्रस्तावों की बाध्यता मेरठ बार एसोसिएशन मेरठ पर नहीं है। उन्होंने कहा कि एल्डर्स कमेटी द्वारा पारित सभी प्रस्ताव अवैध हैं और मेरठ बार एसोसिएशन की प्रबंध समिति का चुनाव मेरठ बार एसोसिएशन द्वारा बनाए गए चुनाव मंडल द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार 6, 7, 8 अक्टूबर को ही होंगे। वहीं, एल्डर्स कमेटी का कहना है कि फिलहाल मेरठ बार की प्रबंध समिति अस्तित्व में नहीं है इसलिए उन्हें कोई विज्ञप्ति जारी करने का अधिकार नहीं है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Meerut Bar and Elders Committee face to face for election