DA Image
25 जनवरी, 2020|1:29|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरिद्वार से आई मां धारी देवी की डोली यात्रा, उमड़े श्रद्धालु

हरिद्वार से आई मां धारी देवी की डोली यात्रा, उमड़े श्रद्धालु

देवभूमि हरिद्वार से मां धारी देवी की डोली यात्रा गुरुवार को मेरठ पहुंच गई। इस यात्रा से भक्तों को धन्य करने के अलावा देवभूमि उत्तराखंड से पलायन रोकने, पर्यावरण की रक्षा करने के लिए प्रेरित किया गया है। शहर में कई जगहों पर यात्रा का स्वागत किया। इस बीच पुष्पवर्षा की गई। विक्टोरिया पार्क में यात्रा विश्राम के बीच श्रद्धालुओं ने मां की कृपा प्राप्त की।

यात्रा 15 जनवरी को हरिद्वार हर की पौडी से आरंभ हुई। मार्ग में रुक-रुककर भक्तों को दर्शनलाभ के साथ देवभूमि की संस्कृति को दर्शाती हुई आगे बढ़ती रही। गुरुवार को करीब 11 बजे सिवाया टोल प्लाजा पर यात्रा पहुंची। यहां काफी संख्या में समाज के लोग उमड़े। इसके बाद पल्लवपुरम में यात्रा का स्वागत किया गया। इनमें मुख्य रूप से डॉ. शोभा रतूड़ी एवं विश्वमोहन नौटियाल, बीपी ध्यानी शामिल रहे। इसके बाद यात्रा सोफीपुर पहुंची। यहां पीतांबर दत्त, भगत राम, भवान सिंह भंडारी, चमोला समेत गणमान्य लोगों ने स्वागत किया। इसके बाद बेगमपुल पर स्वागत में खड़े अशोक गुसाई, लक्ष्मी गुसाई आदि ने मां के दर्शन किए। फिर डोली यात्रा कमिश्नरी चौराहे पर विक्रम सिंह नेगी, कैप्टन वीर सिंह, ओपी नौटियाल द्वारा स्वागत के पश्चात जेलचुंगी पहुंची। यहां पर प्रेम सिंह कंडारी, राजेंद्र सिंह कंडारी, धर्म सिंह रावत, राजेंद्र सिंह नेगी, प्रेम सिंह नेगी, माधो सिंह रावत ने स्वागत करने का सौभाग्य प्राप्त किया। इसके बाद माता की डोली यात्रा विक्टोरिया पार्क में गढ़वाल भवन में विश्राम के लिए ठहरी। भक्तों ने माता की अनुकंपा प्राप्त की। गढ़वाल सभा के पदाधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार सुबह पूजन कार्यक्रम होगा और माता भक्तों को दर्शन देंगी। 18 जनवरी की सुबह डोली यात्रा गाजियाबाद के लिए प्रस्थान करेगी। अध्यक्ष ओपी रतूड़ी, गंगा प्रसाद उनियाल, सुरेंद्र चौहान, प्रदीप सिंह रावत, सतेंद्र सिंह भंडारी, दीनपाल सिंह रावत, वीरेंद्र सेमवाल आदि रहे।