DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेडिकल के पर्चे पर निजी लैब की जांच लिखने पर ईएनटी सर्जन को नोटिस, पैथोलोजी लैब में छापेमारी कर एफआईआर

कॉलेज का एक चिकित्सक निजी लैब का एजेंट बनकर सरकारी पर्चों पर जांचें लिख रहा है। मेडिकल अस्पताल के कारनामे की हिन्दुस्तान में खबर प्रकाशित होने के बाद कॉलेज प्रशासन से लेकर शासन तक हड़कप मच गया। कॉलेज प्रशासन ने ईएनटी विभाग के एमएस डॉ. शिवम अग्रवाल नोटिस जारी का स्पष्टीकरण लिया है। नोटिस में सरकारी पर्चे पर निजी लैब का नाम कैसे दर्ज कर दिया और मरीज से यह कह दिया कि अस्पताल की जांच का कोई भरोसा नहीं। निजी लैब से सही जांच कराकर लाओ। जबकि ये सभी जांचें मेडिकल अस्पताल में सरकारी यूजर जार्च पर मरीजों के लिए उपलब्ध हैं। कॉलेज सूत्रों की मानें तो अन्य कुछ विभागों में ऐसी शिकायत मिली हैं। प्राचार्य डॉ. एसके गर्ग ने मामले में तुरंत संज्ञान लेकर जांच शुरू कर दी है। इस मामले में आरटीआई कार्यकर्ता रविकांत ने सीएम, चिकित्सा शिक्षा मंत्री समेत प्रभारी मंत्री को ट्वीट कर कार्रवाई की मांग की थी। निजी लैब से जांच के लिए कॉलेज प्रशासन की शह बताया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:medical news