ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मेरठमेयर पहुंचे हाउस टैक्स विभाग, व्यवस्था देख दंग रह गए

मेयर पहुंचे हाउस टैक्स विभाग, व्यवस्था देख दंग रह गए

हाउस टैक्स के रिश्वतखोर लिपिक और चपरासी की गिरफ्तारी के बाद बदनाम हो रहे नगर निगम का बुधवार को मेयर हरिकांत अहलूवालिया ने निरीक्षण किया। हाउस टैक्स...

मेयर पहुंचे हाउस टैक्स विभाग, व्यवस्था देख दंग रह गए
हिन्दुस्तान टीम,मेरठThu, 22 Feb 2024 02:35 AM
ऐप पर पढ़ें

मेरठ। हाउस टैक्स के रिश्वतखोर लिपिक और चपरासी की गिरफ्तारी के बाद बदनाम हो रहे नगर निगम का बुधवार को मेयर हरिकांत अहलूवालिया ने निरीक्षण किया। हाउस टैक्स को लेकर हाल देखकर मेयर दंग रह गए। उन्होंने निगम अधिकारियों, कर्मचारियों से कहा कि नगर निगम को बदनाम मत करो, व्यवस्था सुधारें। मेयर को न तो हाउस टैक्स को लेकर कोई साइन बोर्ड मिला और न ही काउन्टरों पर व्यवस्था।

बुधवार को हाउस टैक्स में गड़बड़ियों को लेकर मेयर हरिकांत अहलूवालिया नगर निगम मुख्य कार्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे। अपर नगर ममता मालवीय, पंकज कुमार, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी अवधेश कुमार, पार्षद राजीव गुप्ता काले, दीपक वर्मा आदि के साथ सबसे पहले उस बिल्डिंग से निरीक्षण शुरू किया जहां से सोमवार को लिपिक दीपक और चपरासी राजेश गौतम को गिरफ्तार किया गया था। केनरा बैंक बिल्डिंग में निगम कर्मचारियों की उपस्थित कम रहने का कारण जाना गया। मुख्य कर निर्धारण अधिकारी पहले तो इधर-उधर देखने लगे। फिर कहा कि अधिकतर कर्मचारियों की ड्यूटी वसूली में लगायी गयी है। मेयर ने हाउस टैक्स आरोपित करने की प्रक्रिया के विषय में जानकारी चाही गयी। कर अधीक्षक ने बताया कि कर निर्धारण की समस्त गणना स्वकर किताब में उपलब्ध है जिसे कोई भी व्यक्ति रिकार्ड रूम से क्रय कर आसानी से अपने भवन का कर निर्धारण स्वयं ही कर सकता है। मेयर ने निर्देश दिये कि महानगर की जनता को अधिक से अधिक स्वकर निर्धारण की जानकारी के लिए प्रचार-प्रसार करने को कहा। तीनों जोनों के हाउस टैक्स सम्बन्धी विवाद होने की स्थिति में बनाये गये आपत्ति काउन्टरों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि उक्त काउन्टरों पर कोई भी दिशा-निर्देश पटिका नहीं थी। न ही सम्बन्धित अधिकारी के विषय में जानकारी उपलब्ध थी। मेयर ने तत्काल काउन्टरों पर सूचना अंकित करने एवं उक्त काउन्टरों की जानकारी हेतु विभिन्न माध्यमों से प्रचार-प्रसार हेतु निर्देश दिये गये। मेयर ने कैश काउन्टर का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उक्त काउन्टर पर कोई सुरक्षा व्यवस्था न होने पर नाराजगी जतायी। तत्काल सुरक्षा के लिए एक सिपाही की तैनाती के निर्देश दिये गये। मेयर ने अपर नगर आयुक्त को महानगर की जनता से ऑनलाइन गृहकर आदि जमा करने हेतु प्रोत्साहित करने के लिए योजना बनाने हेतु निर्देश दिये गये। साथ ही वार्डों में कैंप लगाकर आपत्तियों का निस्तारण कराने, वसूली के निर्देश दिये।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें