DA Image
19 जनवरी, 2021|3:43|IST

अगली स्टोरी

ऊर्जा मंत्री के आदेश पर लखनऊ की विजीलेंस टीम मवाना पहुंची

default image

लखनऊ से आई विजीलेंस की पांच सदस्यीय टीम ने मवाना व किला परीक्षितगढ़ में गुरुवार को कई मामलों की जांच की। जांच के बाद टीम बिजली कार्यालय से संबंधित मामलों का रिकार्ड अपने साथ ले गई। सूबे के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत द्वारा सौंपे गए कई मामलों की जांच के लिए टीम मवाना व किला परीक्षितगढ़ गई। देर शाम टीम ने मवाना के प्रथम व द्वितीय खंड के अधिशासी अभियंताओं से जानकारी की और लौट गई।

लखनऊ से विजीलेंस की पांच सदस्यीय टीम गुरुवार दोपहर मवाना नगर पहुंची और नगर के एसडीओ रामू पटेल को लेकर कई मामलों की जांच करने मौके पर गई। टीम नगर में उत्सव मंडप के पीछे बसी बस्ती इकरामनगर, भैंसा रोड स्थित नागर कालोनी के पास बनी नई कालोनी, तालाब किनारे बसी नई कालोनी पहुंची और मौके पर बनाई गई सभी नई बिजली लाइनों की जांच की। नई कालोनियों में लाइनें बनाने के एस्टीमेट के रिकार्ड की गहनता से जांच की। बिजली विभाग के सूत्रों का दावा है कि अफसरों ने इन सब कालोनियों में सौभाग्य योजना के तहत लाइनें बनाई थी। इस योजना में छह कनेक्शनों पर दो खंभे निशुल्क लगाने का प्रावधान है। बिजली विभाग के कर्मियों ने सम्बंधित उपभोक्ताओं से अवैध रूप से लाखों रुपये की वसूली की थी। नगर में कई मामले बिजली की बड़ी चोरी के भी हैं। इन चोरी वाले प्रकरणों के सम्बंध में टीम ने मौके पर जाकर जांच पड़ताल की और शिकायतकर्ता उपभोक्ताओं से पूछताछ की। टीम के साथ मवाना के उपखंड अधिकारी रामू पटेल रहे। इससे पहले पांच सदस्यी टीम ने किला परीक्षितगढ़ में बिजली की नई लाइनें बनाने और बिजली चोरी के कई प्रकरणों की छानबीन की। मवाना विद्युत वितरण खंड प्रथम के अधिशासी अभियंता देशराज सोनी और विद्युत वितरण खंड द्वितीय के अधिशासी अभियंता प्रवीण कुमार ने बताया कि यह टीम लखनऊ से आई थी और बिजली चोरी के कई प्रकरणों की जांच करके ले गई है। उनके कार्यालय से बिजली लाइनों का रिकार्ड भी साथ ले गई है। बताया कि यह टीम ऊर्जा मंत्री के द्वारा सौंपे गए प्रकरणों की जांच करने आई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Lucknow 39 s vigilance team reached Mawana on orders of Energy Minister