Isckon program in meerut - सतयुग में होती थी मनुष्य की लाख वर्ष आयु DA Image
12 नबम्बर, 2019|5:59|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सतयुग में होती थी मनुष्य की लाख वर्ष आयु

सतयुग में होती थी मनुष्य की लाख वर्ष आयु

दिल्ली रोड स्थित इस्कॉन के कार्यक्रम में ढोल की धुन पर नृत्य हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ तुलसी पूजन से हुआ। दामोदर अष्टम और फिर दीपदान मुख्य आकर्षण रहा। कनाडा से अक्रूर प्रभु ने श्रीमद्भागवत से संदेश दिया, जिसमें उन्होंने बताया कि चार युग होते हैं और उसमें सतयुग में मनुष्य की आयु एक लाख वर्ष होती है। इसके बाद त्रेतायुग में 10 हजार वर्ष और अब कलयुग में 100 वर्ष है।

उन्होंने कहा कि इस कलयुग में नाम संकीर्तन के अलावा जीव के उद्धार का अन्य कोई उपाय नहीं है। कलयुग में केवल हरिनाम, हरिनाम और हरिनाम से ही उद्धार हो सकता है। हरिनाम के अलावा कलयुग में उद्धार का अन्य कोई भी उपाय नहीं है। राजा जुनेजा, गौरव मित्तल, सौरभ शर्मा, योगेश चावला आदि का सहयोग रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Isckon program in meerut