DA Image
19 जनवरी, 2021|3:51|IST

अगली स्टोरी

कैंट बोर्ड की पहल: सिंगल यूज बेकार प्लास्टिक से बनेगी सड़क, बिजली

कैंट बोर्ड की पहल: सिंगल यूज बेकार प्लास्टिक से बनेगी सड़क, बिजली

मेरठ। मुख्य संवाददाता

स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 को लेकर मेरठ कैंट बोर्ड ने एक अनूठी पहल शुरू की है। शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए 'ईको ब्रिक' अभियान शुरू किया है।

इसके तहत कैंट क्षेत्र में चॉकलेट का एक रैपर तक सड़क पर नहीं दिखना चाहिए। चाहे स्कूल हो या घर, बच्चे सिंगल यूज प्लास्टिक को एक बोतल में रखेंगे। उस बोतल को या तो कैंट बोर्ड की कूड़ा गाड़ी में डालेंगे या फिर कैंट बोर्ड कार्यालय में जाकर जमा कर देंगे। उस सिंगल यूज प्लास्टिक से कैंट बोर्ड सड़क और बिजली बनाएगी। कैंट बोर्ड सीईओ नवेन्द्र नाथ का कहना है कि नये और अनूठे पहल से ही मेरठ कैंट को नंबर-1 बनाना है।

छावनी क्षेत्र में सिंगल यूल प्लास्टिक को इकट्ठा कर प्रभावी और तकनीकी रूप से निस्तारित करने को ‘ईको ब्रिक अभियान शुरू किया है। कैंट बोर्ड सीईओ नवेंद्र नाथ ने इसकी शुरुआत की है। इस अभियान के तहत आह्वान किया है कि सभी प्रण लें कि कोई भी सिंगल यूज़ प्लास्टिक जैसे टॉफी, चॉकलेट, चिप्स, बिस्किट और दवाइयों आदि के रैपर को कूड़े में सीधे न फेंककर बोतल में इकट्ठा करें। उस बोतल के भर जाने पर वह बोतल कूड़ा उठाने वाले सफाईकर्मी को दे दें या कैंट बोर्ड में जमा कर दें। इस तरह साफ सुथरी प्लास्टिक इकट्ठा की जा सकेगी, साथ ही उसका निस्तारण भी हो सकेगा।

घर-घर में ईको ब्रिक तैयार करें

सीईओ नवेन्द्र नाथ ने यह अभियान बच्चों के साथ मिलकर शुरू किया है। उन्होंने छावनी के हर घर में इको ब्रिक तैयार करने की अपील की है। प्रत्येक छावनी निवासी पर्यावरण में योगदान करें। इस तरह इकट्ठा की गई साफ प्लास्टिक का इस्तेमाल सड़क बनाने से लेकर बिजली बनाने तक किया जा सकता है। इसमें कई एनजीओ ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने की बात कही है। इसका उत्साह इसी से देखा जा सकता है कि स्कूलों के बच्चे खुद सीईओ को इको ब्रिक पहुंचा रहे हैं। इस पहल से प्लास्टिक न सड़कों पर और न ही नालियों में जाएगी और बड़े सुनियोजित तरीके से निस्तारित भी की जा सकेगी।

जानें, कैसे तैयार की जा सकती हैं ईको ब्रिक्स

ईको ब्रिक यानी प्लास्टिक की ईंट घर में पड़ी प्लास्टिक की बोतल के अंदर चॉकलेट, चिप्स, दवाई के रैपर अच्छे से भरकर उसे बंद कर लें। बोतल में यह सामान तब तक भरें जब तक वह अच्छे से टाइट न हो जाए। ऐसे ही कई बोतलें तैयार करने के बाद इसे अलग-अलग तरह के सामान बनाने के यूज में लाया जा सकता है। इससे अगर एक चेयर बनानी है तो इसके लिए सीमेंट और रेत के घोल का इस्तेमाल भी होगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Initiative of Cantt Board Single use road will be made of waste plastic electricity