DA Image
20 अक्तूबर, 2020|10:59|IST

अगली स्टोरी

एक्सप्रेस-वे के दोनों ओर घोषित हों औद्योगिक क्षेत्र

default image

मेरठ। कार्यालय संवाददाता

वेस्टर्न यूपी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की 75वी वार्षिक जनरल मीटिंग बुधवार को हुई। इसमें उद्यमियों ने शहर के विकास को लेकर मंथन किया। कई प्रस्ताव भी पारित किए गए। डॉ. रामकुमार गुप्ता की अध्यक्षता में हुई बैठक में 11 काउंसिल सदस्य निर्विरोध चुने गए।

चैंबर ऑफ कॉमर्स की ओर से प्रस्ताव पारित किया कि अगर सरकार दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे के दोनों ओर औद्योगिक क्षेत्र घोषित करें तो इससे इनवेस्टर्स भी आकर्षित होंगे और उद्योगों को भारी लाभ होगा। इसी के अलावा गेझा में 250 एकड़ जमीन उद्योगों के लिए चयनित की गई थी मगर इस पर अभी तक कोई विकास कार्य नहीं किया है जिस पर ध्यान देने की जरूरत है। नौचंदी मैदान को स्थाई प्रदर्शनी स्थल के रूप में विकसित करने पर सहमति बनी। उद्यमियों ने कहा कि 11 माह यह मैदान खाली पड़ा रहता है। नोएडा एक्सपो की तर्ज पर इसमें सरकार शेड बनवाए। मेरठ, सहारनपुर और मुरादाबाद मंडल के उद्यमी अपने उत्पादन की समय-समय पर यहां प्रदर्शनी लगा सकते हैं और बाहर से आए खरीदारों से मीटिंग कर सकते हैं।

उद्यमियों ने कहा कि मेरठ में पूर्ण विकसित औद्योगिक क्षेत्रों में सड़कों की स्थिति खराब है इसमें सुधार की जरूरत है। मीटिंग में अजय गुप्ता, अभय रस्तोगी, अजय प्रकाश, गिरीश मोहन गुप्ता, जेके गुप्ता, पुनीत मोहन शर्मा, एसपी देशवाल, संजय रस्तोगी, विनोद अग्रवाल, संजय जैन और डॉ. ब्रजभूषण काउंसिल सदस्य चुने गए। इस अवसर पर औद्योगिक विकास पर प्रस्ताव भी पारित किया जिसे प्रदेश सरकार और स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों को दिया जाएगा। इस दौरान जेसी शर्मा, शशांक शर्मा, ह्रिदेश रस्तोगी, संजीव जैन, राजेंद्र सिंह आदि रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Industrial areas should be declared on both sides of the expressway