guru purnima in meerut - गुरु को नमन कर श्रद्धा से मनाई गुरु पूर्णिमा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुरु को नमन कर श्रद्धा से मनाई गुरु पूर्णिमा

गुरु को नमन कर श्रद्धा से मनाई गुरु पूर्णिमा

‘गुरुर ब्रह्मा गुरुर विष्णु गुरुर देवा महेश्वर:, गुरु: साक्षात्परब्रह्मा तस्मै श्री गुरुवे नम : गुरु की महिमा का ज्ञान कराते इस श्लोक के साथ शहरभर में गुरु पूर्णिमा का पर्व श्रद्धा, भक्ति एवं उल्लास के साथ मनाया गया। धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों की ओर से विशेष आयोजन किए गए। विद्वान, मनीषियों ने जहां गुरु की महत्ता बताई तो वहीं हवन-यज्ञ के बाद भंडारों का आयोजन किया गया।

कैलाश प्रकाश स्पोर्ट्स स्टेडियम के पास स्थित बगुलामुखी मंदिर में आचार्य प्रदीप गोस्वामी ने माता के विभिन्न रूपों के बारे में बताया। कहा कि केवल गुरु ही है, जो हमें परमात्मा का ज्ञान कराता है। बिना गुरु के भवसागर से तर पाना संभव नहीं है। माता को भोग लगाने के बाद प्रसाद का वितरण किया गया, जिसमें भारी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे। पीएल शर्मा रोड स्थित श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर में गुरु पूर्णिमा के पर्व पर मुख्य पुजारी कैलाश दत्त शर्मा एवं विवेक दत्त शर्मा ने मनोकामना कलावा बंधन अर्पित किया। इसके बाद गुरुजी का चोला पूजन, भोग व आरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया। इस दौरान बाबा का मधुर भक्ति गीतों के साथ गुणगान किया गया।

सदर बॉम्बे बाजार स्थित भारत ज्योतिष विद्यापीठ पर गुरु वेद व्यासपूजन सर्वदोष निवारण महायज्ञ अनुष्ठान, पहने हुए रत्नों का पुन: चैतन्यीकरण तथा ज्योतिष वास्तु संगोष्ठी के उपरान्त परामर्श दिया गया। दूसरे सत्र में भारत ज्योतिष विद्यापीठ के सौजन्य से दीक्षांत समारोह का आयोजन हुआ। विद्यापीठ के ज्योतिषाचार्य उत्तीर्ण किए छात्रों को ससम्मान उनकी विशिष्ट योग्यता के आधार पर दैवज्ञ उपाधि, ज्योतिषाचार्य डिप्लोमा तथा ज्योतिष विशारद प्रमाण पत्र सभा अध्यक्ष व मुख्य अतिथि ने प्रदान किए। मुख्य अतिथि आयकर आयुक्त मेरठ देहरादून रेंज तरुण कुमार रहे। विशिष्ट अतिथि सुमेश स्वानी एडिशनल कमिश्नर, केपी पांडे डीआइजी व डीपी श्रीवास्तव पूर्व अपर जिलाधिकारी, श्वेता सिंह ज्वाइंट कमिश्नर जीएसटी बहादुरगढ़ ने आचार्यों को सम्मानित किया। संस्थान के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गुमान भूषण ने शंकराचार्य द्वारा उल्लेखित संस्कृत के श्लोकों का अर्थ बताया।

गोरख परिवार की ओर से कमिश्नरी पार्क में गुरु गोरखनाथ महाराज का हवन-यज्ञ किया गया। विशेष पूजन के बाद खीर का भोग लगाकर प्रसाद वितरित किया गया। संयोजक महेंद्र नाथ उपाध्याय ने योग, हठ योग के बारे में बताया।

सूरजकुंड स्थित बृहस्पतिदेव मंदिर में सुबह से भक्ति-भजन से गुरु बृहस्पति का गुणगान हुआ। राकेश मेहरा ने बताया कि बृहस्पति सभी देवताओं के गुरु हैं। इस अवसर पर मंगलकामना कलावों का वितरण किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:guru purnima in meerut