DA Image
28 नवंबर, 2020|4:57|IST

अगली स्टोरी

गोपाष्टमी: गायों का किया पूजन, पहनाए गर्म कपड़े

गोपाष्टमी: गायों का किया पूजन, पहनाए गर्म कपड़े

मेरठ। कार्यालय संवाददाता

गोपाष्टमी के अवसर पर रविवार को शहर में श्रद्धा, भक्ति और आस्था की त्रिवेणी बही। गोशालाओं में सुबह से श्रद्धालु गौ माता का पूजन करने को कतार लगाए रहे। गौ माता का पूजन कर हरा चारा खिलाया गया। कई जगह गर्म कपड़े भी पहनाए गए। गौ माता के संरक्षण और संवर्धन का संकल्प भी लिया।

दिल्ली रोड स्थित गोपाल गौशाला, सूरजकुंड स्थित बाबा मनोहर नाथ मंदिर गौशाला, कंकरखेड़ा स्थित गौशाला आदि में श्रद्धा और भक्ति के साथ गौ और ग्वालों का पूजन किया गया। सूरजकुंड स्तिथ बाबा मनोहर नाथ मंदिर प्रांगण में नंदिनी गौशाला में महामंडलेश्वर गुरु मां नीलिमानंद महाराज के सानिध्य में गौ पूजन हुआ। धर्मसंघ अध्यक्ष पुनीत शादमा, मूलचंद पंडित, मुक्ता चौधरी, रेखा गोयल, कविता चौहान, पीयूष तिवारी, रुद्र चौहान, रामरती अम्मा, नीतू, मंजू गुप्ता रहे।

गोपाष्टमी का महत्व

गोपाल गौशाला के पुरोहित पंडित सुरेंद्र झा ने बताया कि एक बार ब्रह्मा जी को भ्रम हो गया कि कृष्ण भगवान विष्णु के अवतार नहीं हो सकते। ऐसे में उनकी परीक्षा के लिए गाय और ग्वालों को पहाड़ के कंदरे में निष्प्राण करके छुपा दिया। गोकुल में हाहाकार मच गया। मदद के लिए सभी गोकुलवासी सप्तऋषि के पास गए। उन्होंने बताया कि इसका एकमात्र समाधान विष्णु अवतार भगवान श्री कृष्ण के पास है। ग्रामवासियों की प्रार्थना के बाद श्रीकृष्ण ने योग माया से ग्वालों और गायों को पुनर्जीवित कर दिया। इसके बाद से भगवान कृष्ण के आदेश पर कार्तिक शुक्ल अष्टमी को ग्वालों व गाय का पूजन कर परिक्रमा की जाती है। गौशाला के अध्यक्ष बिजेंद्र अग्रवाल, उपाध्यक्ष कृष्ण गोपाल सिंघल, उपमंत्री विपिन कुमार गोयल, मंत्री विनोद कुमार बंसल, कोषाध्यक्ष अनिल कुमार रस्तोगी, संगठन मंत्री श्री गोपाल सिंघल व सदस्य प्रियव्रत शर्मा आदि उपस्थित रहे। प्रबंधक उमेश चंद्र पांडे के निर्देशन में गोपाष्टमी का उत्सव उल्लास से संपन्न हुआ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Gopashtami worshiped cows wore warm clothes