DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मेरठ  ›  खुशखबरी: मेरठ को मिलेगा नया बाईपास, टोल प्लाजा भी बनेगा

मेरठखुशखबरी: मेरठ को मिलेगा नया बाईपास, टोल प्लाजा भी बनेगा

हिन्दुस्तान टीम,मेरठPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:40 AM
खुशखबरी: मेरठ को मिलेगा नया बाईपास, टोल प्लाजा भी बनेगा

मेरठ शहर के लिए एक और बड़ी खुशखबरी है। मेरठ शहर को ट्रैफिक जाम से निजात के लिए एनएचएआई ने करीब साढ़े 13 किलोमीटर का नया बाईपास स्वीकृत कर दिया है। यह गढ़ रोड को किला रोड, मवाना रोड होते हुए दिल्ली-देहरादून हाईवे में मिला देगा। इसके लिए भूमि अधिग्रहण की अधिसूचना जारी कर दी गई है। इस साल के अंत अथवा अगले वर्ष के प्रारंभ में बाईपास के निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा।

मेरठ शहर में लंबे समय से रिंग रोड की डिमांड हो रही थी। पहले यह रिंग रोड एमडीए को बनानी थी। बाद में पीडब्लूडी को कहा गया, लेकिन फंड के अभाव में शासन ने यह मामला केन्द्र सरकार को भेज दिया। कई स्तरों पर विचार-विमर्श के बाद इसे एनएचएआई को सौंप दिया गया। एनएचएआई में कई स्तरों पर विचार-विमर्श के बाद गढ़ रोड से किला रोड-मवाना रोड से होते हुए दिल्ली-देहरादून हाईवे पर सिवाया टोल से आगे तक न्यू बाईपास को मंजूरी दे दी गई। इससे अब यह भी तय हो गया है कि सिवाया टोल शहर की सीमा से और आगे जाएगा।

133 हेक्टेयर जमीन की जरूरत

मेरठ के इस नये बाईपास के लिए मेरठ सदर और सरधना तहसील के 11 गांवों की 133.3244 हेक्टेयर अर्थात 13 लाख 33 हजार 244 वर्ग मीटर जमीन का अधिग्रहण होगा। इसमें सरकारी और निजी दोनों प्रकार की जमीन है, लेकिन अधिकतर कृषि भूमि है। भू-स्वामियों से आपसी करार के माध्यम से जमीन ली जाएगी। अधिसूचना जारी होने के बाद 21 दिनों में भू-स्वामी एडीएम (एलए) के यहां आपत्ति दर्ज करा सकता है।

इन गांवों की जमीन में होगा निर्माण

- मेरठ सदर तहसील का बहचोला, सलारपुर-जलारपुर, सिखैड़ा, सरधना तहसील का बहराला, दौराला, कैलोता, खनौदा, मैथना इंद्र सिंह, मामूरपुर उर्फ देदवा, मुख्तयारपुर नंगला और पनवाड़ा।

तीन हाईवे को जोड़ेगा नया बाईपास

मेरठ का यह नया बाईपास शहर के तीन हाईवे को जोड़ेगा। मेरठ-गढ़मुक्तेश्वर एनएच-709 ए, मेरठ-नजीबाबाद एनएच-119, मेरठ-मुजफ्फरनगर एनएच-58 और किला रोड के स्टेट हाइवे को कनेक्ट करेगा। शहर का यह तीसरा महत्वपूर्ण बाईपास होगा। इससे पूर्व बिजली बंबा बाईपास, कंकरखेड़ा-मोदीपुरम बाईपास पहले से है।

मेरठ के लिए बड़ी उपलब्धि

मेरठ के लिए यह एक बड़ी उपलब्धि है। लंबे समय से रिंग रोड की मांग हो रही थी। रिंग रोड की तरह ही यह नया बाईपास होगा। अधिसूचना जारी होने के बाद जल्द ही जल्द भूमि अधिग्रहण होगा। उसके बाद चंद महीनों में निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा

- राजेन्द्र अग्रवाल, सांसद।

सरकार की प्राथमिकता में नया बाईपास

मेरठ के लिए यह बाईपास सरकार की विशेष प्राथमिकता में है। सरकार के निर्देश के तहत भूमि अधिग्रहण की अधिसूचना जारी हो गई है। जल्द ही आपत्तियां प्राप्त कर, भूमि का मुआवजा आदि की कार्रवाई होगी। उसके बाद प्राथमिकता के साथ निर्माण होगा

- डीके चतुर्वेदी, जीएम, एनएचएआई।

संबंधित खबरें