DA Image
20 जनवरी, 2021|2:08|IST

अगली स्टोरी

मंच पर छलका बेटी का दर्द, पर्यावरण की चिंता

बेटियां घर की शान हैं। वे लक्ष्मी हैं। उनके बिना घर का आंगन सूना है। परिवार और समाज की कल्पना उनके बिना नहीं। बेटियों से भेदभाव नहीं, प्यार करो। वे भी बेटों की तरह हैं। बेटियां बचेंगी तो परिवार, घर और समाज बचेगा। बुढ़ाना गेट स्थित श्रीसनातन धर्म कन्या इंटर कॉलेज के 58 वें स्थापना दिवस समारोह में छात्राओं ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के जरिए बेटियों के समर्पण और प्यार को नाटिका से जीवंत कर दिया। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन से हुई। प्रबंधक डॉ.ओपी शर्मा, प्रिंसीपल रेखा शर्मा, सेठ दयानंद गुप्ता ने कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इसके बाद छात्राओं ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां से सामाजिक मुद्दों को नाटक एवं कव्वाली से पेश किया। छात्राओं ने लोकनृत्य से दर्शकों को बांध दिया। आखिर में संयुक्त शिक्षा निदेशक दिव्यकांत शुक्ल, उपशिक्षा निदेशक आशुतोष भारद्वाज, डीआईओएस सरदार सिंह को सम्मानित किया गया। इस दौरान विभिन्न कक्षाओं और क्रियाकलापों में शानदार प्रदर्शन करने वाली छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में रवि मल्होत्रा, एडवोकेट हर्षवर्धन राजवंशी, मीरा शर्मा, डॉ.अलका त्रिवेदी सहित सभी शिक्षक मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:girls peroform social issues on platform