ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मेरठसौगात : दो मार्च को राष्ट्र को समर्पित होगा डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर

सौगात : दो मार्च को राष्ट्र को समर्पित होगा डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर

कोलकाता से लुधियाना के बीच तैयार डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर दो मार्च को राष्ट्र को समर्पित होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नई दिल्ली से वर्चुअल तरीके...

सौगात : दो मार्च को राष्ट्र को समर्पित होगा डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर
हिन्दुस्तान टीम,मेरठTue, 27 Feb 2024 01:55 AM
ऐप पर पढ़ें

मेरठ। कोलकाता से लुधियाना के बीच तैयार डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर दो मार्च को राष्ट्र को समर्पित होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नई दिल्ली से वर्चुअल तरीके से डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे। रेल मंत्रालय की ओर से सूचना मिलने के बाद डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के अधिकारी लोकार्पण समारोह की तैयारी में जुट गए हैं।

वेस्ट यूपी में खुर्जा से लेकर पंजाब के साहनेवाल तक 398 किलोमीटर लंबे पूर्वी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का निर्माण तीन चरणों में हुआ है। इस फ्रेट कॉरिडोर की पहले सिंगल लाइन बिछाई गई है। मालगाड़ियों की क्रासिंग के लिए हर 12-15 किलोमीटर की दूरी पर स्टेशन का निर्माण किया गया है। न्यू खुर्जा, न्यू मेरठ, न्यू खतौली, न्यू पिलखनी आदि नाम दिए गए हैं। पहले चरण में खुर्जा से खतौली, दूसरे में खतौली से सहारनपुर के न्यू पिलखनी और तीसरे चरण में न्यू पिलखनी से लेकर पंजाब के साहनेवाल तक कॉरिडोर का निर्माण किया गया है। खुर्जा से सहारनपुर तक डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर करीब 222 किलोमीटर का है। खुर्जा देश के दोनों डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का जंक्शन है। दोनों डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का निर्माण हो चुका है। पूर्वी डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर लुधियाना से कोलकाता तक बना है। दूसरा पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर है, जो कि दादरी से मुंबई तक बना है। दादरी को खुर्जा से जोड़ दिया गया है।

रेलवे के समानांतर है डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर

फ्रेट कॉरिडोर के अधिकारियों का कहना है कि करीब 80 प्रतिशत डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर रेलवे के समानांतर बनाया गया है। शेष भाग आबादी के आसपास से गुजरेगा। मेरठ और आसपास के क्षेत्र में फ्रेट कॉरिडोर को लेकर करीब 11 हजार 827 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया गया। 20 हजार करोड़ से अधिक की राशि मुआवजे के तौर पर वितरित किया गया है। दो मार्च के बाद कोलकाता से लुधियाना के बीच वाया खुर्जा-मेरठ-न्यू पिलखनी मालगाड़ियों का संचालन प्रारंभ हो जाएगा।

देश के विकास में कारगर साबित होगा डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर

डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर लागत को कम करने, सप्लाई शृंखला को बढ़ाने और देश के आर्थिक विकास में काफी कारगर साबित होगा। दो मार्च को लोकार्पण होगा

- पवन कुमार, सीजीएम, डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर, मेरठ।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें