DA Image
16 सितम्बर, 2020|10:40|IST

अगली स्टोरी

गंगा एक्सप्रेस-वे एलाइनमेंट की होगी जांच

गंगा एक्सप्रेस-वे एलाइनमेंट की होगी जांच

उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य ने कहा है कि मेरठ-प्रयागराज गंगा एक्सप्रेस-वे के एलाइनमेंट में परिवर्तन की जांच कराई जाएगी। प्रभावित किसानों के साथ नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने यह आश्वासन विधायक सत्यवीर त्यागी से हुई वार्ता के दौरान दिया है। उधर, खरखौदा क्षेत्र के किसानों से कलक्ट्रेट में प्रदर्शन कर उच्चस्तरीय जांच की मांग की। किसानों ने अशोक धनौटा की अध्यक्षता में 11 सदस्यीय एक्शन कमेटी का भी गठन किया है।

सोमवार को बिजौली के किसानों ने भी विधायक सत्यवीर त्यागी के सामने गंगा एक्सप्रेस-वे की समस्याओं को रखा। किसानों ने कहा कि जब इस तरह एलाइनमेंट बदलना था तो फिर 14 महीने से बैनामे क्यों रोके गए। हाजीपुर, शाकरपुर से जब एक्सप्रेस-वे निकालना था तो अब तक वहां के बैनामे क्यों हो रहे। किसानों ने कहा कि यह बड़ा घोटाला है। विधायक ने किसानों की भावना को देखते हुए उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य से फोन पर वार्ता की। उन्हें बताया कि गंगा एक्सप्रेस-वे के नए एलाइनमेंट को लेकर किसान बहुत परेशान हैं। किसानों ने काम नहीं होने देने की बात कही है। विधायक ने बताया कि उपमुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है कि वे इसकी जांच कराएंगे। किसानों के साथ नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी।

किसानों ने बनाई एक्शन कमेटी, नए एलाइनमेंट को देंगे चुनौती

उधर, किसानों ने अशोक धनौटा की अध्यक्षता में गंगा एक्सप्रेस-वे एलाइनमेंट एक्शन कमेटी का गठन किया है। कमेटी में आशीष धनौटा सचिव, ऋषि त्यागी कोषाध्यक्ष, विशांत त्यागी प्रवक्ता बनाये गए हैं। एक्शन कमेटी ने ऐलान किया है कि वे नए एलाइनमेंट को हाईकोर्ट में चुनौती देंगे। हाईकोर्ट के सामने 2019 से लेकर अब तक के सारे आदेश को रखा जाएगा। बताया जाएगा कि भूमि अधिग्रहण में घोटाले के लिए एलाइनमेंट में बदलाव किया गया है। यह दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे की तरह का मेरठ में घोटाला किया जा रहा है। इसे किसान बर्दाश्त नहीं करेंगे।

गंगा एक्सप्रेस वे के एलाइनमेंट में बदलाव पर भड़के किसान, कलक्ट्रेट पहुंचकर जताया विरोध

खरखौदा क्षेत्र के कई गांवों के किसानों ने सोमवार को कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया। गंगा एक्सप्रेसवे के एलाइनमेंट में घोटाले का आरोप लगाते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की। डीएम को ज्ञापन देकर कहा कि एक्सप्रेस वे का पूरा एलाइनमेंट बदल दिया गया है। किसानों के साथ अन्याय किया जा रहा है। बदलाव से कई जगहों पर रास्ते रुक जाएंगे। किसानों की जमीन का उचित मुआवजा भी नहीं मिल पाएगा। किसानों के साथ रहे प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री शाहिद मंजूर ने किसानों की समस्याओं का जल्द समाधान कराने की मांग की। प्रदर्शन में हरपाल सिंह, अमन सिंह जोहर, लोकेंद्र कुमार, सत्येंद्र कुमार, रोहित, मनोज आदि शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ganga expressway alignment will be investigated