DA Image
28 नवंबर, 2020|10:53|IST

अगली स्टोरी

डेंगू के चार नए मरीज मिले, हड़कंप

default image

मेरठ। वरिष्ठ संवाददाता

जिले में मच्छरजनित रोगों का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े के अनुसार अब तक 17 से ज्यादा डेंगू के मरीज मिल चुके हैं। शनिवार को जयभीम नगर, लखीपुरा, जानी ब्लॉक के टीमकिया गांव समेत जिला अस्पताल में डेंगू के चार नए मरीजों की पुष्टि हुई है। इससे स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं, इन इलाकों में अभियान चलाकर एंटी लार्वा, फॉगिंग की गई है। घर-घर जाकर बुखार और खांसी के मरीजों की तलाश की गई।

अस्पतालों में मच्छरदानी वार्ड

सरकारी अस्पतालों में मच्छर जनित रोगों के इलाज के लिए मच्छरदानी वाले बेड तैयार किए गए हैं। इन अस्पतालों में फीवर डेक्स बनाई गई है। बुखार के मरीजों की डेंगू, मलेरिया जांच की जा रही है। जिन मरीजों में प्लेटलेट्स कम मिल रही है, उन्हें प्लेटलेट्स चढ़ाई जा रही हैं।

ये हैं लक्षण

तेज बुखार, बदन दर्द, जी मिचलाना एवं उल्टी होना, त्वचा पर लाल धब्बे या चकत्ते, नाक और मसूढ़ों से रक्तस्राव, काला मल का आना डेंगू एवं चिकनगुनिया के लक्षण हैं।

डेंगू चिकनगुनिया फैलाने वाले मच्छर एडीज के लार्वा को नष्ट करने के लिए जिला स्तर पर मलेरिया विभाग की ओर से जलभराव वाली जगहों और नालों में छिड़काव किया जा रहा है। वहीं घरों में लार्वा चेकिंग अभियान भी चलाया जाएगा। इस मौसम में लापरवाही न बरतें। लक्षणों के दिखते ही अलर्ट हो जाएं।

सत्यप्रकाश, जिला मलेरिया अभियान स्वास्थ्य विभाग

स्वास्थ्य केंद्रों को जरूरत के हिसाब से विभाग की ओर से इंफ्रारेड थर्मामीटर और पल्स ऑक्सीमीटर भी उपलब्ध कराए गए हैं। अस्पतालों में अलर्ट जारी कर दिया है। अलग-अलग वायरल होने की वजह से सबकी जांच जरूरी है। जांच और इलाज में लापरवाही न बरती जाए।

डॉ. राजकुमार चौधरी, सीएमओ

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Four new dengue patients found stirred