DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मेरठ  ›  दो पक्षों में जमकर मारपीट, पथराव और फायरिंग

मेरठदो पक्षों में जमकर मारपीट, पथराव और फायरिंग

हिन्दुस्तान टीम,मेरठPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:10 AM
दो पक्षों में जमकर मारपीट, पथराव और फायरिंग

मवाना। संवाददाता

नगर में रविवार रात गाढ़ो वाली मस्जिद के पास एक समुदाय के दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई। पथराव की किया गया। एक पक्ष के दबंगों ने दूसरे पक्ष के घर में घुसकर जान से मारने की नीयत से धारदार हथियार से हमला किया और फायरिंग की। इस वारदात में एक दंपति और बेटा गंभीर रूप से घायल हो गया। घायलों को मेरठ एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने हमलावरों को पकड़ने का प्रयास किया। पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए सीएचसी भेजा और पीड़ित की तहरीर पर 16 आरोपियों के खिलाफ गंभीर धाराओं में किया मुकदमा दर्ज कर लिया है। पूरी घटना दो मकानों में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज देख आरोपियों के मकानों पर दबिश दी लेकिन कोई भी पकड़ में नहीं आया।

मोहल्ला कल्याण सिंह निवासी इलियास रविवार सुबह करीब दस बजे खेत पर गन्ना छिलाई का काम कर रहा था। उसी समय रहीसुद्दीन, नवाब, फारूख और बाबर पहुंचे और उस पर धारदार हथियारों से हमला करने का प्रयास किया। उसने जान बचाने को शोर मचाया तो खेत में काम कर रहे उसके चाचा मोहम्मद अय्यूब और अन्य लोग आ गए। उन्हें देखकर चारों लोग बाद में देख लेने की धमकी देकर भाग गए। बाद में रविवार रात करीब 11 बजे एक साथ आए 16 दबंगों ने इलियास के चाचा मोहम्मद अय्यूब के घर में घुसकर धारदार हथियारों से जानलेवा हमला कर दिया। शोर सुनकर आसपास के लोग जब मौके की ओर दौड़े तो आरोपियों ने पथराव किया और फायरिंग की। इस घटना में चाचा मोहम्मद अय्यूब, चाची अमरूनिशा व उसका चचेरा भाई अब्दुल रहमान गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस तो हमलावर भाग गए। पुलिस ने पहले तीनों घायलों को सीएचसी भेजा, जहां से डॉक्टरों ने उन्हें मेरठ रेफर कर दिया। उनका इलाज मेरठ के एक निजी अस्पताल में चल रहा है। पीड़ित मोहम्मद अय्यूब की तहरीर पर पुलिस ने गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। रिपोर्ट में 16 लोग नामजद और तीन अज्ञात बताए गए हैं। थाना प्रभारी धर्मेन्द्र राठौर ने बताया कि रात ही रिपोर्ट दर्ज कर ली गई थी, आरापियों को पकड़ने को दबिश दी जा रही है।

विवाद की शुरुआत महबूब की शादी से हुई

इलियास ने बताया कि इरशाद का भतीजा महबूब उसका दोस्त था। उसके दोस्त महबूब ने दो माह पहले हुई शादी में अपने चाचा इरशाद को नहीं बिठाया। इरशाद के मन में यह बात पैदा हो गई कि महबूब की शादी में इरशाद को शामिल करने से इलियास ने मना किया होगा, तभी से इरशाद उससे रंजिश रखने लगा। हालांकि अब उसका दोस्त महबूब अपने चाचा के साथ में उससे दुश्मनी रखने लगा।

मारपीट और हमले की हो चुकीं हैं चार वारदात

दो माह से इलियास और इरशाद के बीच में मारपीट और घर में घुसकर हमले की चार वारदातें हो चुकी है, लेकिन चारों वारदातों में पुलिस ने उनकी बात नहीं सुनी। सीओ से शिकायत की, जांच हुई। इलियास ने बताया कि सीओ ने उनके पक्ष में रिपोर्ट दर्ज करने की रिपोर्ट थाना मवाना भेजी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

फुटेज ने खोली दी पोल

दो दिन पहले इलियास ने उसने अपने चाचा मोहम्मद अय्यूब के मकान में सीसीटीवी कैमरे लगवाए थे जिसका आरोपियों को पता नहीं था। रविवार रात की घटना कैमरे में कैद हो गई। सीसीटीवी की फुटेज में साफ दिखाई दे रहा है कि हमलावर अपने मुंह पर कपड़ा बांध रहे हैं और उनके हाथों में लाठियां है, जबकि मौके पर दो सिपाही खड़े हुए दिखाई दे रहे हैं। पीड़ितों का आरोप है कि यदि इस बार भी फुटेज नहीं होती तो पुलिस उनकी बात नहीं मानती। चार बार पहले घटनाएं पुलिस ने इसी कारण नहीं मानी थी। उलटे उनके खिलाफ एक बार रिपोर्ट दर्ज कर ली गई।

संबंधित खबरें