DA Image
27 सितम्बर, 2020|12:07|IST

अगली स्टोरी

किसान पहुंचे गाजियाबाद, एक हफ्ते बंद रहेगा एक्सप्रेस-वे का काम

किसान पहुंचे गाजियाबाद, एक हफ्ते बंद रहेगा एक्सप्रेस-वे का काम

मेरठ। मुख्य संवाददाता

एक समान मुआवजे की मांग को लेकर गाजियाबाद कलक्ट्रेट को घेरने निकले किसानों और प्रशासनिक अधिकारियों की वार्ता विफल हो गई। गाजियाबाद के एडीएम सिटी शैलेन्द्र सिंह ने एक हफ्ते में किसानों की मांगों पर कार्रवाई की बात कही। किसानों ने कहा कि तब तक एक्सप्रेस-वे का काम बंद रहेगा। उसके बाद किसानों ने गाजियाबाद कलक्ट्रेट घेरने और अनिश्चितकालीन धरने के कार्यक्रम को स्थगित कर दिया। बाद में भोजपुर में आकर मौके पर हो रहे एक्सप्रेस-वे के कार्य को बंद करा दिया। किसानों का कहना है कि एक हफ्ते की मोहलत दी गई है।

इससे पूर्व सोमवार को प्रथम गढ़ गांव से 26 गांवों के किसानों ने एक समाने मुआवजे की मांग को लेकर पूर्व जिला पंचायत सदस्य सतीश राठी, बबली गुर्जर, पवन गुर्जर आदि के नेतृत्व में अर्द्धनग्न पदयात्रा की शुरुआत की थी। बुधवार को गाजियाबाद कलक्ट्रेट पहुंच कर घेराव और अनिश्चिकालीन धरने का कार्यक्रम था। कलक्ट्रेट की रवानगी से पूर्व ही किसानों के बीच गाजियाबाद के एडीएम सिटी शैलेन्द्र सिंह, एसपी सिटी अभिषेक वर्मा पहुंचे। उन्होंने किसानों से वार्ता की। किसानों का दावा है कि एडीएम ने प्रशासन की ओर से एक हफ्ते में मांगों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है। अब एक हफ्ते तक किसान प्रत्येक दिन की कार्रवाई पर नजर रखेंगे। साथ ही किसानों ने टूटी-फूटी सड़कों की मरम्मत कराने, सर्विस रोड को बढ़ाने का भी आश्वासन दिया। सपा नेता पवन गुर्जर ने कहा किसानों ने कार्रवाई होने तक काम बंद करने को लेकर समर्थन किया। फिलहाल किसानों ने सात दिन के लिए धरना, आंदोलन स्थगित कर दिया है। गाजियाबावद से लौटने में भोजपुर में किसानों ने एक्सप्रेस-वे का काम बंद करा दिया। आंदोलन में मुख्य रूप से किसान नेता महबूब अली, निशांत भड़ाना, सालिक अली, हाजी जुनैद आदि रहे। गाजियाबाद के आंदोलन में काशी, अछरौंडा, भूड़बराल, सौलाना आदि गांवों के किसान भी शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmers reach Ghaziabad expressway work will be closed for a week