DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मेरठ  ›  हमारा सबकुछ चला गया, अब मेरठ आकर क्या करेंगे...

मेरठहमारा सबकुछ चला गया, अब मेरठ आकर क्या करेंगे...

हिन्दुस्तान टीम,मेरठPublished By: Newswrap
Sun, 09 May 2021 08:22 PM
हमारा सबकुछ चला गया, अब मेरठ आकर क्या करेंगे...

व्यथा-कथा

- मेरठ मेडिकल कॉलेज 15 दिन तक झूठ बोलता रहा की मरीज की हालत ठीक है

- एमईएस के रिटायर मास्टर क्राफ्ट्समैन की मौत के बाद बेटी-दामाद की व्यथा

- दामाद बोले- पता नहीं ससुर आखिरी पलों में किन हालातों में रहे होंगे

मेरठ। वरिष्ठ संवाददाता

पापा को कमर में चोट क्या लगी, हम पर तो मुसीबतों का पहाड़ टूट गया। गाजियाबाद के हॉस्पिटल में ले गए। उन्होंने इलाज से पहले कोविड जांच का फरमान सुना दिया। जांच में पापा कोरोना संक्रमित निकले। जिस हॉस्पिटल में उन्हें लेकर गए, वह नॉन कोविड था। उस अस्पताल ने तुरंत मेरठ रेफर कर दिया। बस यही हमारी सबसे बड़ी गलती थी जो पापा को मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया।

यह कहना है शिखा शिवांगी का, जो पन्द्रह दिन पहले अपने पिता संतोष कुमार को खो चुकी हैं। बरेली में मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस (एमईएस) में मास्टर क्राफ्ट्समैन पद से चार साल पहले रिटायर हुए संतोष कुमार की पत्नी कैंसर पीड़ित हैं। इस वजह से वृद्ध दंपति पिछले ढाई महीने से गाजियाबाद के राजनगर एक्सटेंशन में अपनी बेटी शिखा शिवांगी के साथ रह रहा था।

पापा के सारे कागजात जमा किए : शिवांगी

शिवांगी के अनुसार, 21 अप्रैल की सुबह करीब 11 बजे उन्होंने पिता संतोष कुमार को एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड में भर्ती कराया। शिवांगी का दावा है कि उस वक्त पिता से जुड़े सभी आईडी प्रूफ और मोबाइल नंबर दर्ज कराए गए थे। 23 अप्रैल को संतोष कुमार की मौत हो गई। 3 मई तक डॉक्टर फोन पर उनके जिंदा होने का झूठ शिवांगी से बोलते रहे। 8 मई को जांच में पाया कि संतोष कुमार की मौत 23 अप्रैल को हो चुकी थी।

न जाने अंतिम दौर में किन हालातों में रहे : अंकित

संतोष कुमार के दामाद अंकित दीक्षित ने कहा, हमारा सबकुछ चला गया। ससुर की मौत हो चुकी है। कैंसर पीड़ित सास की हालत और ज्यादा खराब हो गई है। पूरा परिवार तनाव में है। ऐसे में वह कुछ करने के मूड में नहीं हैं। न ही कोई शिकायत लेकर मेरठ आना चाहते। डॉक्टरों ने न ससुर का हालचाल दिया और न अंतिम दर्शन कराए। न जाने उनके ससुर अंतिम दौर में किन हालातों में रहे होंगे।

संबंधित खबरें