DA Image
28 जनवरी, 2021|1:28|IST

अगली स्टोरी

डेढ़ साल बाद भी युवती की पहचान नहीं, पुलिस को हॉरर किलिंग का शक

default image

मेरठ। वरिष्ठ संवाददाता

इंचौली थाना क्षेत्र के लावड़ में डेढ़ साल पहले मिली युवती की लाश की आज तक शिनाख्त नहीं हो पाई है। पुलिस अब यह मान रही है कि युवती को उसके परिजनों ने ही मारा है। संभवत: इसीलिए युवती की गुमशुदगी आसपास के जनपदों में भी दर्ज नहीं है।

23 मार्च 2019 को लावड़ के जंगल में युवती की लाश मिली थी। उम्र करीब 20 साल रही होगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात साफ हुई कि वह गर्भवती थी और उसकी हत्या की गई थी। पुलिस ने शव का लावारिस में अंतिम संस्कार करते हुए पहचान के लिए ज्वैलरी, कपड़े और बिसरा सुरक्षित रख लिया था। आसपास के जनपदों को शव के फोटो भिजवाए गए। डेढ़ साल बाद भी इस केस में पुलिस को सफलता नहीं मिल सकी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस प्रकरण में उन्हें हॉरर किलिंग का शक है। युवती जेवरात पहने हुए थी। इससे स्पष्ट है कि लूट के लिए उसकी हत्या नहीं की गई। यदि युवती लापता होती तो उसके परिजन आसपास के किसी भी जनपद के थाने में गुमशुदगी दर्ज कराने जरूर आते। थाने के रिकॉर्ड में युवती की गुमशुदगी तक दर्ज नहीं है। चूंकि युवती गर्भवती थी, इसलिए यह भी आशंका है कि परिजनों ने उसकी हत्या कर दी हो और संभवत: इसीलिए उन्होंने थाने में कोई शिकायत भी दर्ज नहीं कराई हो। पुलिस ने अब शव के फोटो एक बार फिर से दूसरे जनपदों को भेजे हैं, ताकि उसकी पहचान हो सके।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Even after one and a half year the woman is not identified police suspects horror killing