DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाने के सामने सिंचाई विभाग के इंजीनियर के घर दिनदहाड़े डकैती

थाने के सामने सिंचाई विभाग के इंजीनियर के घर दिनदहाड़े डकैती

सिविल लाइन थाने के सामने ही मध्य गंगा कालोनी निवासी सिंचाई विभाग के इंजीनियर के दिनदहाड़े बदमाशों ने धावा बोला। शादी का कार्ड और मिठाई देने के बहाने से चार बदमाश घर में घुस आए और बच्चों को गन प्वाइंट पर ले लिया। इसके बाद पूरे परिवार को बंधक बनाकर घर से लाखों के जेवरात और सामान लेकर बदमाश फरार हो गए। बदमाशों का हल्ला मचाया, लेकिन कोई पकड़ने के लिए सामने नहीं आया। वारदात की सूचना पर हड़कंप मच गया। एसपी सिटी और सीओ समेत थाना पुलिस मौके पर पहुंची। बदमाशों की तलाश में कई जगहों पर छापेमारी की गई।

मध्य गंगा कालोनी में सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर पुनीत अग्रवाल परिवार के साथ रहते है। रविवार दोपहर करीब तीन बजे पुनीत घर पर ही खाना खा रहे थे। इसी दौरान डोर बैल बजी। बेटी तनु ने जाकर दरवाजा खोला। चार युवकों ने पुनीत का नाम लेकर पूछा कि कहां पर हैं। बताया कि शादी का कार्ड और मिठाई लेकर आए हैं। इस दौरान जैसे ही तनु की बड़ी बहन टीया आई तो बदमाशों ने उन्हें मकान में अंदर ही धकेल दिया। इसके बाद तनु, टीया और उनके भाई प्रत्यक्ष को गन प्वाइंट पर ले लिया।

पुनीत अग्रवाल और उनकी पत्नी शालू अग्रवाल बच्चों की चीख सुनकर बाहर आए तो बदमाशों ने बच्चों को गोली मारने की धमकी दी। विरोध करने पर शालू से मारपीट करते हुए धक्का दे दिया। इसके बाद पूरे परिवार को हथियारों के बल पर बंधक बना लिया और उन्हें एक कमरे में बैठ लिया। बदमाशों का एक पांचवा साथी बाहर निगरानी करने लगा, जबकि बाकी चार बदमाशों ने मकान में अंदर लाखों रुपये की ज्वैलरी, नकदी और सामान लूट लिया। इसके बाद बेडरूम में परिवार को बंधक बनाकर बदमाश बाइकों पर भागे। पीछे वाले दरवाजे से निकलकर पुनीत और उनकी पत्नी ने बदमाशों का हल्ला मचाया, लेकिन किसी ने बदमाशों को नहीं पकड़ा। सूचना के बाद एसपी सिटी रणविजय सिंह, सीओ सिविल लाइन रामअर्ज और इंस्पेक्टर सिविल लाइन मौके पर पहुंचे। बदमाशों की सूचना फ्लैश की गई और पूछताछ की गई। पुनीत की ओर से अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।

----

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Engineer's house in the front of the police station, Irrigation Department, Dacoity