ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश मेरठकार्यकर्ताओं की नाराजगी, समन्वय का अभाव रहा हार का कारण

कार्यकर्ताओं की नाराजगी, समन्वय का अभाव रहा हार का कारण

लोकसभा चुनाव में मुजफ्फरनगर सीट पर भाजपा प्रत्याशी डा. संजीव बालियान और मेरठ लोकसभा क्षेत्र में चार विधानसभा क्षेत्रों में हार किन वजहों से हुई,...

कार्यकर्ताओं की नाराजगी, समन्वय का अभाव रहा हार का कारण
default image
हिन्दुस्तान टीम,मेरठWed, 19 Jun 2024 01:35 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव में मुजफ्फरनगर सीट पर भाजपा प्रत्याशी डा. संजीव बालियान और मेरठ लोकसभा क्षेत्र में चार विधानसभा क्षेत्रों में हार किन वजहों से हुई, कहां पर चूक हुई, इन तमाम सवालों को लेकर पार्टी स्तर पर गठित दो-दो सदस्यीय टीम जांच में जुट गई है। मुजफ्फरनगर लोकसभा के लिए एमएलसी धर्मेन्द्र सिंह और आलोक गुप्ता की टीम पहुंची तो मेरठ लोकसभा के लिए गोरखपुर के क्षेत्रीय अध्यक्ष सहजानंद राय और सहारनपुर के विधायक राजेश गुंबर की टीम पहुंची। टीम सबसे पहले सरधना विधानसभा क्षेत्र में पहुंची। पार्टी के जिलाध्यक्ष, लोकसभा प्रभारी, लोकसभा संयोजकों और मंडल अध्यक्षों ने साफ तौर पर कहा कि कार्यकर्ताओं की नाराजगी और जनप्रतिनिधियों-प्रशासन के बीच समन्वय का अभाव हार का कारण रहा है। यह भी कहा गया कि जिन लोगों को योजनाओं का लाभ मिला तो उनका वोट पाने में पार्टी विफल रही।

मुजफ्फरनगर लोकसभा क्षेत्र : बालियान और सोम के बीच जुबानी जंग पर भी हुई चर्चा

चुनावी हार को लेकर डॉ. संजीव बालियान और सरधना के पूर्व विधायक संगीत सोम के जुबानी जंग और दोनों में राजनीतिक खींचतान को लेकर पार्टी गंभीर है। मंगलवार को टीम मुजफ्फरनगर पहुंची और पार्टी कार्यालय में जिलाध्यक्ष, महामंत्री, लोस संयोजक सहित अन्य पदाधिकारियों से अलग-अलग बात की। सरधना को लेकर मेरठ के भाजपा जिलाध्यक्ष शिव कुमार राणा और अन्य पार्टी पदाधिकारियों से चर्चा हुई। शिव कुमार राणा ने बताया कि सरधना में भाजपा मात्र 45 वोट के अंतर से पीछे रही। मुख्य कारण कार्यकर्ताओं की नाराजगी बताई गई। डॉ. धर्मेन्द्र सिंह ने सभी की बातों को सुनने के बाद इसकी रिपोर्ट शीर्ष नेताओं को सौंपने की बात कही। भाजपा जिलाध्यक्ष सुधीर सैनी ने बताया कि चुनाव में हार को लेकर समीक्षा बैठक हुई है। कई बातें सामने आई है, जिसको सार्वजनिक करना उचित नहीं है। इस मामले में पार्टी के शीर्ष नेता ही अवगत कराएंगे।

मेरठ लोकसभा क्षेत्र : संगठन और प्रशासन में नहीं रहा बेहतर समन्वय, कार्यकर्ता रहे नाराज

मेरठ लोकसभा क्षेत्र में चार विधानसभा क्षेत्रों मेरठ शहर, मेरठ दक्षिण, किठौर और हापुड़ में हार को लेकर मंगलवार को हरमन सिटी स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में घंटों बैठक हुई। दोपहर में जांच टीम के सदस्य गोरखपुर के क्षेत्रीय अध्यक्ष सहजानंद राय और सहारनपुर के विधायक राजीव गुंबर मेरठ पहुंचे। पहले उन्होंने मंडल अध्यक्षों के साथ चर्चा की। उसके बाद महानगर और जिले के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर जानकारी ली। पार्टी नेताओं ने बिना किसी बड़े नेताओं का नाम लिए कहा कि कार्यकर्ताओं की नाराजगी, जनप्रतिनिधियों और प्रशासन के बीच समन्वय ठीक नहीं होना ही चार विधानसभा क्षेत्रों में हार का कारण रहा। एक भाजपा नेता ने कहा कि जिन लोगों को योजनाओं का लाभ दिया गया, उनका वोट पार्टी को नहीं मिला। कार्यकर्ता भी कई कारणों से नाराज रहे। एक मंडल अध्यक्ष ने कहा कि अधिकारी तो किसी की सुनते ही नहीं। आम जनता की भी सुनवाई ठीक से नहीं हो रही। परिणाम इसी का नतीजा है। बैठक में महानगर से सुरेश जैन रितुराज, लोकसभा संयोजक कमलदत्त शर्मा, महानगर महामंत्री महेश बाली आदि रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।