DA Image
1 अक्तूबर, 2020|12:57|IST

अगली स्टोरी

प्रभु के जन्म, तप, मोक्ष की झांकियां प्रदर्शित कीं

प्रभु के जन्म, तप, मोक्ष की झांकियां प्रदर्शित कीं

श्री शांतिनाथ दिगंबर जैन पंचायती मंदिर असौड़ा हाउस में शांतिनाथ भगवान की प्रतिमा के प्रक्षालन का स्वर्ण कलश द्वारा सौभाग्य राकेश जैन परिवार और रजत कलश द्वारा प्रक्षालन का सौभाग्य अंकित जैन को मिला। आदिनाथ भगवान की प्रतिमा का प्रक्षालन संजय जैन एवं सार्थक ने किया। आकिंचन धर्म पर पूजा हुई।

नीलम जैन ने स्वाध्याय के समय बताया कि आकिंचन धर्म जीवन की सच्चाई का अहसास कराते हुए कहता है कि तुम सब कुछ पा लेते हो और सब कुछ पाने के बाद अहंकार की चादर भी ओढ़ लेते हो परंतु ऐसा व्यक्ति सब कुछ पाकर भी खाली हाथ ही रहता है। शांतिनाथ युवा संघ एवं वीर नवयुवती संघ द्वारा मंदिर परिसर में 2 दिन के लिए रथ यात्रा का प्रदर्शन झांकी के रूप में किया गया जिसमें प्रभु के जन्म, तप, मोक्ष की झांकियां प्रदर्शित करते हुए घोड़े-हाथियों पर कोरोना झांकी एवं सबसे पीछे रथ प्रदर्शित किया। शाम को मंगल ज्योति एवं आरती संजय जैन एवं नवीन जैन परिवार द्वारा कराई गयी। तानिया जैन ने जूम ऐप पर रथयात्रा की झांकी दिखाई। उसके पश्चात एक नाटिका धर्म की प्रभावना दिखाई जिसमें प्रियंका जैन, आगम जैन और प्रेक्षा जैन ने प्रस्तुति दी। इसके बाद एक सांस्कृतिक कार्यक्रम चित्र पहचानो कराया गया जिसमें विजेता श्वेता, राजेश, अग्रिम, राशि, संजीव आदि रहे। सोनिया जैन ने प्रश्नोत्तरी एवं चरित्र धरले के विजेता घोषित करे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Demonstrated tableaux of Lord 39 s birth penance salvation