ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश मेरठछुर मुल्हेड़ा मार्ग पर सिटी बसें चलवाने की मांग

छुर मुल्हेड़ा मार्ग पर सिटी बसें चलवाने की मांग

छुर-मुल्हेड़ा मार्ग पर वाया खिर्वा होते हुए सिटी बसें चलाने की मांग एक बार फिर से उठ गई है। वर्ष 2013 में इस मार्ग पर बस चलवाने के लिए शिक्षक शरणवीर...

छुर मुल्हेड़ा मार्ग पर सिटी बसें चलवाने की मांग
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,मेरठThu, 29 Sep 2022 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

सरधना। छुर-मुल्हेड़ा मार्ग पर वाया खिर्वा होते हुए सिटी बसें चलाने की मांग एक बार फिर से उठ गई है। वर्ष 2013 में इस मार्ग पर बस चलवाने के लिए शिक्षक शरणवीर सिंह ने अनशन भी किया था, लेकिन बसें नहीं चली। अब फिर से मांग उठ गई है। क्षेत्र के लोगों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। साथ ही दो अक्तूबर तक बसों का संचालन न होने पर क्रमिक अनशन की चेतावनी दी।

बता दें कि छुर मुल्हेड़ा मार्ग पर बसों का संचालन नहीं होता जिसके चलते दर्जनभर गांवों के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सभी डग्गामार वाहनों पर सफर करने को मजबूर हैं। कई बार इस मार्ग पर सिटी बसों का संचालन कराने की मांग उठी, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। वर्ष 2013 में मास्टर शरणवीर सिंह ने बसों के संचालन के लिए आमरण अनशन भी किया था। उस समय बसें चलवाने का आश्वासन तो दिया गया, लेकिन बसों का संचालन नहीं हुआ। अब कंकरखेड़ा बाईपास से बपारसी तक सड़क का निर्माण भी हो गया है। जिसके चलते अब क्षेत्र के लोगों ने फिर से इस मार्ग पर बसों के संचालन की मांग उठाई है। बुधवार को क्षेत्र के लोगों ने बैठक कर इस पर चर्चा की। साथ ही एसडीएम को एक ज्ञापन भी भेजा। ज्ञापन में उन्होंने दो अक्तूबर गांधी जयंती के दिन तक बसों का संचालन कराने की मांग की। साथ ही संचालन नहीं होने पर कालंद गांव में क्रमिक अनशन पर बैठने की चेतावनी दी। ज्ञापन देने वालों में मास्टर शरणवीर सिंह, सुधीर तालियान, दिनेश त्यागी, मो. साबिर, जुल्फकार, संजीव त्यागी, सुधीर प्रधान आदि रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper