DA Image
18 जनवरी, 2021|10:35|IST

अगली स्टोरी

कोरोना : तकनीक से जुड़े छात्र और कॉलेज, मोबाइल से भर दिए पांच लाख फार्म

कोरोना : तकनीक से जुड़े छात्र और कॉलेज, मोबाइल से भर दिए पांच लाख फार्म

मेरठ। वरिष्ठ संवाददाता

मार्च में लागू लॉकडाउन एवं शैक्षिक संस्थान पूरी तरह से बंद होने के बाद ऑनलाइन मोड पर बढ़ी निर्भरता से कॉलेजों ने काम करने का तरीका बदल लिया है। छात्रों ने मोबाइल से घर बैठकर पांच लाख परीक्षा फॉर्म भर दिए। कॉलेजों ने ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया अपना ली। वेस्ट यूपी के बड़े कॉलेजों में शुमार मेरठ कॉलेज ने इस सिस्टम से बीते तीन दिनों में एक हजार से अधिक प्रवेश कर लिए। छात्र इस प्लेटफॉर्म से 13 लाख रुपये की फीस जमा करा चुके हैं।

विवि ने कहा, ऑनलाइन मोड में आइए

मेरठ। कुलपति प्रो.एनके तनेजा ने कॉलेजों से प्रवेश प्रक्रिया को पूरी तरह से ऑनलाइन मोड में लाने को कहा है। बैंकों में छात्रों को लाइन से बचाने के लिए कॉलेजों को इसी वर्ष ऑनलाइन पेमेंट सिस्टम लागू करना होगा। विवि पिछले पांच वर्षों से कॉलेजों को ऑनलाइन सिस्टम स्वीकारने को प्रोत्साहित कर रहा था, लेकिन कोरोना काल में यह जमीनी स्तर पर शुरू हो गया।

मेरठ कॉलेज ने पूरी तरह से ऑनलाइन किया

मेरठ। दस हजार छात्र संख्या वाले मेरठ कॉलेज ने पिछले हफ्ते प्रवेश प्रक्रिया को पूरी तरह ऑनलाइन कर दिया। प्रेस प्रवक्ता विनय कुमार के अनुसार कॉलेज में द्वितीय एवं फाइनल के सभी प्रवेश इसी से हो रहे हैं। छात्रों को बैंक में आने की जरूरत नहीं है। वे घर से फीस जमा कर रहे हैं। तीन दिनों में कॉलेज में छात्रों ने घर बैठे 13 लाख रुपये की फीस जमा कराई है। एक हजार छात्रों ने घर से ही अगली कक्षा में प्रवेश ले लिया। छात्रों ने केवल अपने मोबाइल से ही यह सब किया। विनय कुमार के अनुसार कॉलेज की प्रवेश प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन है। डीएन कॉलेज ने भी ऑनलाइन फीस की व्यवस्था की है। विवि के अनुसार मेरठ-सहारनपुर मंडल के 40 एडेड-राजकीय कॉलेजों ने जल्द ही अपना ऑनलाइन प्रवेश एवं पेमेस्ट सिस्टम शुरू करने का भरोसा दिया है।

विवि के पांच लाख छात्रों ने मोबाइल से भर दिए फॉर्म

मेरठ। कोरोना काल में केवल कॉलेज ही नहीं बल्कि छात्रों ने भी खुद को बदल लिया। लॉकडाउन से पहले तक छात्रों के 90 फीसदी फॉर्म साइबर कैफे से भरे जा रहे थे, जबकि लॉकडाउन एवं संस्थान बंद होने पर छात्रों ने विवि के परीक्षा फॉर्म अपने मोबाइल से ही भर दिए। विवि प्रशासन के अनुसार पांच लाख छात्रों ने अपने मोबाइल से परीक्षा फॉर्म भरे जो कुल छात्रों का 90 फीसदी से अधिक है। विवि में इस वक्त जारी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में भी 95 फीसदी छात्रों ने मोबाइल से ही पंजीकरण कराया है।

विवि में यह है ऑनलाइन

-यूजी-पीजी में प्रवेश को ऑनलाइन पंजीकरण।

-माइग्रेशन, पीसी, डिग्री, ट्रांसक्रिप्ट ऑनलाइन।

-ऑनलाइन परीक्षा फॉर्म।

-प्रवेश के लिए ऑनलाइन कंफर्मेशन।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona Students and colleges connected with technology mobile filled five lakh forms