DA Image
22 अक्तूबर, 2020|12:23|IST

अगली स्टोरी

हाथरस कांड को लेकर मेरठ में आज सफाई का चक्का जाम

हाथरस कांड को लेकर मेरठ में आज सफाई का चक्का जाम

मेरठ। मुख्य संवाददाता

हाथरस कांड को लेकर मेरठ में सफाई कर्मचारियों के संगठन ने गुरुवार को सफाई का चक्का जाम करने का ऐलान कर दिया है। सफाई कर्मचारियों ने बुधवार को घंटाघर पर इस मामले को लेकर जमकर हंगामा और विरोध प्रदर्शन किया। मानव शृंखला बनाई। सफाई कर्मचारियों के संगठनों ने ऐलान किया है कि हाथरस की बेटी को जब तक इंसाफ नहीं मिलेगा तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

बुधवार को बड़ी संख्या में सफाई कर्मचारी, वाल्मीकि समाज के लोग घंटाघर चौराहा पहुंचे और हाथरस की घटना को लेकर रोष जताया। इसमें सफाई कर्मचारी, विभिन्न राजनीतिक दलों के लोग भी शामिल रहे। घंटाघर पर जबरदस्त विरोध किया गया। सफाई कर्मचारियों और वाल्मीकि समाज के लोगों के आंदोलन से हंगामे की स्थिति बन गई। आंदोलन और प्रदर्शन को लेकर मौके पर पुलिस, पीएसी और आरएएफ को भी बुला लिया गया और बड़े वाहनों की आवाजाही रोक दी गई। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दी जाए। पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपये मुआवजा दिया जाए। प्रदर्शन के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा गया।

वहीं दूसरी ओर, नगर निगम में सफाई कर्मचारियों ने बैठक कर गुरुवार को मेरठ में एक दिन की हड़ताल का ऐलान कर दिया। सफाई कर्मचारी नेता राजू धवन, कैलाश चंदोला ने कहा है कि गुरुवार को 90 वार्डों में सफाई कार्य नहीं होगा। सफाई कर्मचारी टोलियां बनाकर बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए गली-गली, मोहल्ले-मोहल्ले जाएंगे। उधर, डीएस-4 के अध्यक्ष रमेश चंद्र गेहरा ने कहा कि बेटी को इंसाफ मिलना चाहिए।

हड़ताल के ऐलान से प्रशासन में मची खलबली

हाथरस कांड के विरोध में सफाई के चक्का जाम के ऐलान से प्रशासन और नगर निगम में खलबली मच गई। शाम को प्रभारी नगर आयुक्त श्रद्धा शांडिल्यान ने दावा किया कि बस सुबह छह बजे से आठ बजे तक सफाई प्रभावित रहेगी। वहीं सफाई कर्मचारी नेता कैलाश चंदोला ने कहा कि दोपहर तक सफाई का कार्य नहीं होगा। मनोनीत पार्षद टीसी मनोठिया ने कहा कि कोई हड़ताल नहीं होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Cleanliness jam today in Meerut due to Hathras incident