DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश मेरठअधिवक्ता सुसाइड केस में दस पर लगी चार्जशीट, विधायक का वारंट लेने की तैयारी

अधिवक्ता सुसाइड केस में दस पर लगी चार्जशीट, विधायक का वारंट लेने की तैयारी

हिन्दुस्तान टीम,मेरठNewswrap
Sat, 19 Jun 2021 04:01 AM
अधिवक्ता सुसाइड केस में दस पर लगी चार्जशीट, विधायक का वारंट लेने की तैयारी

मेरठ। हिन्दुस्तान टीम

गंगानगर के ईसापुरम में अधिवक्ता ओमकार सिंह तोमर सुसाइड केस में पुलिस ने 11 आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। पुलिस ने अब भाजपा विधायक दिनेश खटीक समेत तीन आरोपियों का कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट लेने की तैयारी शुरू कर दी है।

केस में बनाए थे 14 आरोपी :

ओमकार सिंह तोमर ने 13 फरवरी को घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। उनके बेटे दिव्येश तोमर ने भाजपा विधायक दिनेश खटीक, पूर्व प्रधान धर्मपाल, पूर्व प्रधान सहंसरपाल, संजय मोतला, जोगेंद्र, विनीत, रवित उर्फ रचित, स्वाति, राजकुमार, मनोज मोतला, बलराज, मुकेश और मुनेंद्र प्रधान के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का मुकदमा थाना गंगानगर में दर्ज कराया था। केस में नामजद आरोपी संजय मोतला खुदकुशी कर चुका है। जांच में दो आरोपियों के नाम और बढ़ाए गए। इस प्रकार केस में कुल आरोपी 14 हो गए।

खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप :

केस की जांच कर रहे सब इंस्पेक्टर सुभाष राजपूत ने बताया कि 11 अभियुक्तों के खिलाफ पिछले दिनों चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी गई है। सहंसरपाल उर्फ संतरपाल, राजकुमार, स्वाति, मुकेश, रवित उर्फ रचित, जोगेंद्र उर्फ योगेंद्र, विनीत, बलराज, मुनेंद्र प्रधान पर आईपीसी की धारा 306 (खुदकुशी के लिए उकसाने) में आरोप पत्र दायर किया गया है। रतन सिंह और रमेश पर फरार आरोपियों को घर में संरक्षण देने का आरोप पत्र दायर किया गया है।

विधायक का वारंट लेने की तैयारी :

सब इंस्पेक्टर सुभाष राजपूत ने बताया कि इस केस में भाजपा विधायक दिनेश खटीक, धर्मपाल और मनोज मोतला की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हो पाई है। उनके खिलाफ कोर्ट से एनबीडब्लू लेने के प्रयास किए जा रहे हैं। आरोपियों को कोर्ट से जमानत करानी पड़ेगी। इसके बाद इन तीनों के विरुद्ध भी चार्जशीट दायर कर दी जाएगी।

सुसाइड नोट की नहीं आई फोरेंसिक रिपोर्ट :

पुलिस को सुसाइड वाले दिन घटनास्थल से तीन पेज का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ था। अधिवक्ता की लिखावट और सुसाइड नोट की लिखावट का मिलान करने के लिए इसे निवाड़ी स्थित फोरेंसिक लैब भेजा गया है। अभी इसकी रिपोर्ट नहीं आई है। गंगानगर पुलिस ने रिपोर्ट जल्द भेजने के लिए फोरेंसिक लैब को रिमाइंडर लिखा है।

प्रताड़ना पर की थी खुदकुशी :

अधिवक्ता ओमकार तोमर के बेटे लव कुमार की शादी 28 फरवरी 2020 को खतौली निवासी स्वाति से हुई थी। इसके बाद दंपति में अनबन हो गई। स्वाति ने लव और ससुरालवालों के खिलाफ खतौली थाने में दहेज एक्ट में केस कर दिया। आरोप है कि दहेज एक्ट के मुकदमे में समझौते के रूप में ओमकार तोमर पर 15 लाख रुपये व सामान वापसी का दबाव बनाया गया। ओमकार तोमर ने 13 फरवरी को खुदकुशी कर ली।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें