DA Image
27 जनवरी, 2020|12:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विरोध एक तरफ, कोर्स में पढ़िए अनुच्‍छेद 370, 35-ए और सीएए

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35-ए को खत्म करने और नागरिकता संशोधित कानून (सीएए) के निर्णयों के राजनीतिक तूफान के बीच ये तीन फैसले विवि के कोर्स का हिस्सा बन गए हैं। उत्तर प्रदेश राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय ने सीएए और अनुच्छेद 370 एवं धारा 35-ए के सर्टिफिकेट कोर्स शुरू कर दिए हैं। इन कोर्स में जनवरी सत्र में प्रवेश होंगे। 12 वीं पास कोई भी व्यक्ति या छात्र इन कोर्स में प्रवेश ले सकता है। उक्त निर्णयों पर समाज के कुछ वर्गों में जारी भ्रांतियों को दूर करते हुए जागरुकता लाने को यह कोर्स शुरू किए गए हैं।

केंद्र सरकार के ये तीनों ही निर्णय बीते कुछ महीनों से सर्वाधिक चर्चा में हैं। इस वक्त सीएए का देश के विभिन्न राज्य एवं कुछ विश्वविद्यालयों में विरोध कर रहे हैं। ये सभी मामले सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच चुके हैं। लेकिन लोगों को जागरुकता लाने के लिए उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय इलाहाबाद ने इन फैसलों पर नए कोर्स शुरू किए हैं। विवि की क्षेत्रीय निदेशक डॉ.पूनम गर्ग के अनुसार इन कोर्स में ऑनलाइन प्रवेश हो गया है। ये सर्टिफिकेट केार्स होंगे एवं 12 वीं उत्तीर्ण स्टूडेंट प्रवेश पा सकते हैं। पूनम गर्ग के अनुसार कोर्स का उद्देश्य जागरुकता फैलाना है। कोर्स तीन महीने के होंगे। छात्र अधिक जानकारी राजर्षि टंडन मुक्त विवि की वेबसाइट से प्राप्त कर सकते हैं।