DA Image
17 जनवरी, 2021|12:23|IST

अगली स्टोरी

विकास कार्यों में लग रही भ्रष्टाचार की ईंटें, अधिकारी अंजान

default image

सरधना नगर पालिका द्वारा कराए जा रहे विकास कार्यों में भ्रष्टाचार की ईंटें लगाई जा रही हैं। चाहे वह कूड़ा निस्तारण प्लांट हो, पुलिया निर्माण हो या फिर गली मोहल्लों नाली सड़क का निर्माण। ठेकेदार मनमाने तरीके से घटिया सामाग्री का इस्तेमाल कर निर्माण किए जा रहे हैं और अधिकारी अंजान बने बैठे हैं। मंडी चमारान में बनकर तैयार हुई नाली एक दिन में ही टूट गई। विरोध में लोगों ने हंगामा किया और कार्य रोक दिया। उन्होंने इस मामले की शिकायत पालिका अधिकारियों से की है।

बता दें कि नगर पालिका की ओर से नगर में विकास कार्य कराए जा रहे हैं। इसके लिए कई करोड़ रुपये का बजट पास किया गया है। समस्त वार्डों में नाली, सड़क का निर्माण होना है। टेंडर छोड़ दिए गए हैं और कई जगह कार्य भी शुरू हो गया है। पालिका अधिकारियों ने टेंडर छोड़कर आंखे मूंद ली है, अब ठेकेदार चाहे घटिया किस्म की सामग्री लगाए या पुरानी। पालिका अधिकारियों को इससे कोई सरोकार नहीं है। इसका जीता जागता उदाहरण मोहल्ला मंडी चमारान में देखने को मिला। यहां ठेकेदार शैलेंद्र कुमार द्वारा नाली व सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है। एक साथ कई गलियों में कार्य चल रहा है। नाली जिन ईंटों से बनाई गई है, वह टेंडर में तो अव्वल है, लेकिन लग पीली रही हैं। सीमेंट के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है। नाली के नीचे रोड़ी डलनी है, लेकिन मिट्टी के ऊपर ही ईंटें रखकर कार्य किया जा रहा है। दो दिन पूर्व बनी नाली पानी चले बिना ही टूटने लगी। मोहल्ले के लोगों का आरोप है कि ईंटें सीमेंट से नहीं जमाई जा रही, बल्कि ईंटें रखकर उसके ऊपर सीमेंट का लेप किया जा रहा है। कहीं-कहीं पीली ईंटे भी इस्तेमाल की जा रही हैं। कई बार इसका विरोध भी किया गया, लेकिन ठेकेदार ने मनमाने तरीके से कार्य जारी रखा। गुरुवार को पालिका सभासद अफजाल मलिक ने मौके पर पहुंचकर इसका विरोध जताते हुए निर्माण कार्य रुकवा दिया। मोहल्ले के लोगों ने घटिया सामग्री से हो रहे कार्य के विरोध में हंगामा किया और खुले शब्दों में चेतावनी दी कि उच्च स्तर की सामाग्री से कार्य होगा तो ही वह करने देंगे अन्यथा वह कार्य नहीं होने देंगे। लोगों के विरोध कि बीच मजदूरों ने काम रोक दिया था। उधर, मोहल्ले के लोगों ने एक बार फिर से अधिकारियों से शिकायत कर निर्माण कार्य की जांच कराने व ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

ठेकेदारों की पहली पसंद बनी पीली ईंट

बता दें कि सरधना में जहां भी विकास कार्य हुए हैं, वहीं पीली ईंटों का इस्तेमाल ठेकेदारों द्वारा किया गया है। चाहे वह कूड़ा निस्तारण प्लांट हो, नाली निर्माण हो, पुलिया निर्माण हो या फिर कुछ और। सरधना में कार्य करने वाले ठेकेदारों की पीली ईंट पहली पसंद बनी हुई है। लोगों का आरोप है कि यह सब पालिका अधिकारियों की मिलीभगत से हो रहा है।

प्रभारी ईओ ने नहीं किया फोन रिसीव

नगर पालिका के प्रभारी ईओ एसडीएम अमित कुमार भारतीय से इस बारे में सम्पर्क करने के लिए फोन मिलाया गया तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bricks of corruption in development work officer unknown