DA Image
5 दिसंबर, 2020|5:13|IST

अगली स्टोरी

लौह पुरुष को किया नमन

लौह पुरुष को किया नमन

मेरठ। संवाददाता

शनिवार को पथिक सेना की ओर से जिला पंचायत सभागार में महर्षि वाल्मीकि और सरदार पटेल जयंती समारोह का आयोजन किया। अध्यक्षता नव राज्य निर्माण महासंघ के अध्यक्ष बाबा आरके देव तोमर और संचालन किसान आंदोलन के अध्यक्ष कुलदीप त्यागी ने किया।

कार्यक्रम का शुभारंभ महर्षि वाल्मीकि और सरदार पटेल के चित्र पर माल्यार्पण से हुआ। पथिक सेना के अध्यक्ष मुखिया गुर्जर ने कहा कि सरदार पटेल ने 562 रियासतों को भारत में मिलाकर ऐतिहासिक काम किया। उनकी जयंती पर मेरठ सहित 17 जिलों को दिल्ली में मिलाकर ग्रेटर दिल्ली प्रदेश निर्माण का संकल्प लिया। इस अवसर पर पूर्व मंत्री रामचंद्र वाल्मीकि, व्यापार मंडल के अध्यक्ष आशु शर्मा, सेव इंडिया जन फाउन्डेशन के अध्यक्ष राजेश शर्मा, संदीप रायजादा, द ग्रोइंग पीपल की अदिति चंद्रा, नीर फाउन्डेशन के रमन त्यागी, गुरमीत साहनी आदि रहे।

देश को अखंडता एवं एकता के सूत्र में पिरोया

मेरठ। सरदार पटेल सुभारती लॉ कॉलेज में सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर हुए ऑनलाइन कार्यक्रम में पटेल के व्यक्तित्व कृत्यों और जीवन दर्शन पर मंथन हुआ। प्राचार्य डॉ. वैभव गोयल ने कहा कि अखण्ड भारत की परिकल्पना सरदार वल्लभ भाई पटेल ने ही साकार की थी। वे किसान एवं मजदूरों के लिये संघर्ष करने वाले एक निर्विवाद नेता थे। कुलपति प्रो.वीपी सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय एकता दिवस और सतर्क भारत-समृद्ध भारत का विचार विवि को प्रेरित करेगा। निदेशक राजेश चन्द्रा ने कहा कि सरदार पटेल ने भारत को छोटे-छोटे क्षेत्रों अथवा राज्यों में विभाजित होने से बचाया। प्रो.नीरज कर्ण सिंह, प्रो.सुनील कुमार सिंह, डॉ.मनोज कुमार त्रिपाठी, विकास त्यागी, डॉ.रीना बिश्नोई, डॉ.सारिका त्यागी, डॉ.सरताज अहमद, आफरीन अलमास, अवि चौधरी, डॉ.प्रेम चन्द्र, शालिनी गोयल, शेफाली गर्ग का योगदान रहा। डॉ.विनय पंवार, डॉ.पीके शर्मा मौजूद रहे।