ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मेरठगंगानगर थाने पर भाकियू का धरना 10 घंटे बाद समाप्त

गंगानगर थाने पर भाकियू का धरना 10 घंटे बाद समाप्त

गंगानगर थाने पर भाकियू का धरना शुक्रवार सुबह पांच बजे समाप्त कर दिया गया। शुक्रवार सुबह भाकियू और पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों के बीच अंतिम दौर की...

गंगानगर थाने पर भाकियू का धरना 10 घंटे बाद समाप्त
हिन्दुस्तान टीम,मेरठSat, 03 Feb 2024 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

मेरठ। गंगानगर थाने पर भाकियू का धरना शुक्रवार सुबह पांच बजे समाप्त कर दिया गया। शुक्रवार सुबह भाकियू और पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों के बीच अंतिम दौर की वार्ता हुई, जिसमें दर्ज मुकदमे की जांच उच्च अधिकारियों की निगरानी में कराने और मुकदमा खत्म कराने के आश्वासन के बाद धरना समाप्त किया गया। थाना प्रभारी ने आमरण अनशन पर बैठे विजयपाल घोपला से माफी मांगी।

गंगानगर पुलिस ने 20 जनवरी को विपुल निवासी गंगानगर की बाइक को सीज कर दिया था। बुधवार शाम भाकियू जिलाध्यक्ष अनुराग चौधरी समेत कई लोगों ने गंगानगर थाने पर बाइक छोड़ने को लेकर हंगामा किया। पुलिसकर्मियों से विवाद हो गया, जिसके बाद भाकियू पदाधिकारियों ने थाने पर धरना शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस ने 27 हजार रुपये का चालान बनाकर बाइक को भाकियू कार्यकर्ताओं के हवाले कर दिया था। बुधवार देररात इंस्पेक्टर गंगानगर कुलदीप सिंह की ओर से भाकियू जिलाध्यक्ष अनुराग चौधरी, हर्ष चहल, अमित कुंडू, नरेश मवाना समेत 35 अज्ञात कार्यकर्ताओं पर बलवा करने और लोकसेवक को कर्तव्य से रोकने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया था। इससे गुस्साए भाकियू पदाधिकारियों और किसानों ने गुरुवार शाम गंगानगर थाने को घेर लिया था। पुलिस ने थाने का गेट बंद कर दिया तो भाकियू कार्यकर्ताओं ने थाने के गेट पर धरना शुरू कर दिया था। मामला तूल पकड़ा तो थाने का गेट रात 12 बजे खोल दिया गया। भाकियू पदाधिकारियों के साथ कई दौर की वार्ता शुरू कर दी गई। शुक्रवार अलसुबह चार बजे आखिरी दौर की वार्ता में एडीएम-ई अमित कुमार सिंह ने भाकियू पदाधिकारियों पर दर्ज मुकदमे की जांच उच्च अधिकारियों की निगरानी में कराने और मुकदमा खत्म कराने का आश्वासन दिया। थानाध्यक्ष गंगानगर ने आमरण अनशन पर बैठे विजयपाल घोपला से माफी मांगते हुए उनका आमरण अनशन समाप्त कराया। आश्वासन के बाद किसान और भाकियू कार्यकर्ता धरने को स्थगित कर सुबह पांच बजे अपने घर लौट गए।

..................

हम और कार्यकर्ता मुकदमा होने पर गिरफ्तारी देने गंगानगर थाने आए थे। अधिकारियों ने निष्पक्ष जांच और अधिकारियों की निगरानी का आश्वासन दिया है। हम स्वाभिमानी भाकियू सिपाही हैं और किसी के भी स्वाभिमान से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं करेंगे। अगर कुछ भी गलत होगा तो हम उसके खिलाफ आवाज उठाएंगे

-अनुराग चौधरी, जिलाध्यक्ष मेरठ, भारतीय किसान यूनियन

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें