DA Image
1 मार्च, 2021|2:19|IST

अगली स्टोरी

कैंट बोर्ड सदस्य कर रहे वादियों की सैर, भाजपा हलकान

कैंट बोर्ड सदस्य कर रहे वादियों की सैर, भाजपा हलकान

कैंट बोर्ड में सियासी उठापटक के बीच बोर्ड सदस्य वादियों की सैर कर रहे हैं और फोन स्विच ऑफ हैं। डैमेज कंट्रोल में जुटी भाजपा लगातार पैचअप में जुटी है मगर सदस्यों के आगे उसके सारे प्रयास बेअसर साबित हो रहे हैं। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में भाजपा की परेशानी और बढ़ सकती है। प्रदेश नेतृत्व कई दिन बाद ही सदस्यों की रवैये पर कोई निर्णय नहीं ले सका है।

कैंट बोर्ड में विपिन सोढ़ी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के बाद से गरम हुआ सियासी पारा लगातार तपता जा रहा है। महानगर अध्यक्ष मुकेश सिंघल ने शुरुआती दौर में विवाद खत्म करने की कोशिश की लेकिन सदस्य के आगे सभी कोशिशें बेकार साबित हुईं। उनके द्वारा बुलाई गई बैठक में चार सदस्य नहीं पहुंचे, इन सभी को अनुशासनहीनता को लेकर नोटिस जारी किया गया। सभी सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव के फैसले को जनता के हित में बताते हुए जवाब भेजा जिसे पार्टी आलाकमान को भेज दिया गया। रविवार को भी महानगर अध्यक्ष ने फिर से बीना वाधवा, रिनी जैन, अनिल जैन व नीरज राठौर को पक्ष रखने के लिए आमंत्रित किया था। कोई भी सदस्य नहीं पहुंचा अलबत्ता फोन भी स्विच ऑफ हो गए।

पार्टी की ओर से कैंट बोर्ड सदस्यों की टोह लेने की कोशिश की गई, जिसमें यह सामने आ रहा है कि कैंट बोर्ड सदस्य वादियों के सैर पर हैं। तमाम सियासी दलों में चहल कदमी कर भाजपा में आए सियासी दिग्गज का नाम पूरे खेल में सामने आ रहा है। पूर्व उपाध्यक्ष बीना बाधवा की भाजपा में एंट्री में इसी ने महती भूमिका निभाई थी। सूत्रों का दावा है कि उपाध्यक्ष के चुनाव के दिन ही सदस्य प्रकट होंगे। वहीं दूसरी ओर भाजपा की ओर से अनुशासनहीनता को लेकर प्रदेश नेतृत्व को भेजे गए जवाब पर पार्टी अभी तक निर्णय नहीं ले सकी है। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि नफे नुकसान का गणित बिठाकर ही पार्टी नेतृत्व कोई निर्णय लेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:BJP board members visiting Cantt board BJP upset