DA Image
25 जनवरी, 2021|4:38|IST

अगली स्टोरी

भाजपा की चौपाल में किसानों का हल्ला बोल, दिखाए काले झंडे

भाजपा की चौपाल में किसानों का हल्ला बोल, दिखाए काले झंडे

सरधना। हमारे संवाददाता

दबथुवा के श्री गांधी स्मारक इंटर कालेज में आयोजित भाजपा की किसान चौपाल का भाकियू कार्यकर्ताओं व किसानों ने जमकर विरोध किया। कार्यक्रम स्थल पर लगे बैनर को आग लगा दी, साथ ही मुख्य द्वार पर धरना देकर बैठ गए। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे राज्यमंत्री संजीव इक्का को किसानों ने काले झंडे दिखाए और जमकर नारेबाजी की। पुलिस ने विरोध कर रहे लोगों को कार्यक्रम स्थल तक नहीं पहुंचने दिया। करीब 50 मीटर पहले ही रोके रखा। करीब 15 मिनट राज्यमंत्री यहां रुके और चले गए। उनके जाने के बाद विरोध कर रहे किसान भी वापस लौट गए।

सोमवार को कृषि बिल के समर्थन में भाजपा की एक किसान चौपाल युवा भाजपा नेता मोहित शर्मा द्वारा श्री गांधी स्मारक इंटर कालेज परिसर में रखी गई। मुख्य अतिथि के रूप में उपभोक्ता, सहकारी संघ के राज्यमंत्री संजीव इक्का को यहां पहुंचना था। उधर, कृषि बिल के समर्थन में होने वाले इस कार्यक्रम का भाकियू कार्यकर्ताओं व किसानों को पता चला तो वह काले झंडे लेकर कालेज के बारह पहुंच गए। यहां उन्होंने पहले नारेबाजी की फिर गेट पर लगे कार्यक्रम के बैनर को आग के हवाले कर दिया। इतना ही नहीं जिस गेट से मुख्य अतिथि को कालेज के अंदर जाना था उसे बंद कर किसान वहीं धरना देकर बैठ गए। सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने किसानों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह नारेबाजी कर वहीं बैठे रहे। करीब सवा दो बजे राज्यमंत्री संजीव इक्का का काफिला कालेज गेट पर पहुंचा। पुलिस ने उन्हें दूसरे गेट से एंट्री करा दी। किसनों ने राज्यमंत्री को काले झंडे दिखाए और जमकर नारेबाजी की। पुलिस उन्हें सुरक्षा घेरे में लेकर मंच तक पहुंची। इसी बीच भाकियू कार्यकर्ताओं व किसानों ने बंद किए गए गेट को खोलकर कार्यक्रम स्थल पर हल्ला बोल दिया। यह नजारा देख पुलिस के हाथ पांव फूल गए। पुलिस फोर्स ने तुरंत घेराबंदी करते हुए किसानों को अंदर जाने से रोकना शुरू कर दिया। किसान काले झंडे लेकर मंच तक पहुंचने के प्रयास में लगे रहे। पुलिस ने किसी तरह उन्हें मंच से करीब 50 मीटर पहले ही रोक लिया। यहां खडे़ होकर किसानों ने राज्यमंत्री को काले झंडे दिखाए और नारेबाजी जारी रखी। पुलिस ने चारो तरफ खडे़ होकर किसानों को रोके रखा। करीब 15 मिनट तक राज्यमंत्री संजीव इक्का मंच पर रहे। तब तक किसानों का हंगामा जारी रहा। नारेबाजी करते हुए काले झंडे दिखाते रहे। राज्यमंत्री ने मंच पर बिना माइक के अपना भाषण पूरा किया और वहां से चले गए।

कृषि बिल से किसानों को नहीं बिचोलियों को है नुकसान: संजीव इक्का

सरधना। दबथुवा में आयोजित किसान चौपाल में मौजूद लोगों को सम्बोधित करते हुए राज्यमंत्री संजीव इक्का ने कहा कि कृषि बिल का विरोध किसान नहीं बलकि बिचौलिए कर रहे हैं। किसान लम्बे समय से इस बिल की मांग कर रहे थे। इस बिल से बिचौलियों को नुकसान होगा। कहा कि विपक्ष के पास अब कोई मुददा नहीं बचा, जिसके चलते इस बिल को मुददा बनाकर बवाल कराया जा रहा है। यह बिल किसानों के हित में है, किसान इस बात को समझें और इसका लाभ ले। जो लोग उन्हें भ्रमित कर रहे हैं वह अपनी राजनीतिक रोटियां सेक रहे हैं। सरकार किसानों के हित में कार्य कर रही है।

किसानों को कृषि बिल के समबंध में समझाने के लिए चौपाल का आयोजन किया गया था। रालोद व भाकियू के कुछ कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम में व्यवधान फैलाने के लिए नारेबाजी की व काले झंडे दिखाए। विरोध प्रदर्शन में कोई किसान नहीं था। कार्यक्रम में मौजूद किसानों ने राज्यमंत्री की बात सुनी और कृषि बिल के बारे में समझा। कार्यक्रम सफल रहा। एडवोकेट मोहित शर्मा, आयोजक किसान चौपाल।

कई थानों की फोर्स रही तैनात

सरधना। किसान चौपाल का विरोध शुरू हुआ तो पुलिस अधिकारियों में अफरा तफरी मच गई। उच्च अधिकारियों ने तुंरत कार्यक्रम स्थल पर सरधना, सरूरपुर व कंकरखेड़ा की पुलिस को भेजा। कार्यक्रम निपटने पर पुलिस वहां से हटी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:BJP 39 s chaupal was staged by farmers showing black flags