DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्राम सचिवों ने बाइक रैली निकाली, धरना दिया

बेमियादी हड़ताल पर ग्राम पंचायत सचिवों ने शुक्रवार को तेजगढ़ी से बाइक रैली निकालकर सांसद राजेंद्र अग्रवाल के आवास पर जाकर अपनी मांगें बताईं। इसके बाद विकास भजन में धरना दिया और ज्ञापन देकर मांग पूरी नहीं होने तक आंदोलन जारी रखने का ऐलान किया।

ग्राम पंचायत अधिकारी- ग्राम विकास अधिकारी समन्वय समिति के बैनर तले ग्राम सचिव अपनी मांगों के समर्थन में छह जून से हड़ताल पर हैं। शुक्रवार को सचिव तेजगढ़ी चौराहे पर एकत्र हुए। यहां से बाइक रैली निकालते हुए सांसद आवास पर पहुंचे। सांसद के सामने समस्याएं रखी गईं। इस दौरान कहा गया कि ग्राम पंचायत अधिकारी और ग्राम विकास अधिकारी की शैक्षिक योग्यता स्नातक की जानी चाहिए। अभी तक 12वीं पास है। साथ ही सीसीसी प्रमाण पत्र की जगह ओ लेवल के जरिए प्रमाण पत्र बनवाए जाने चाहिएं। सातवें वेतन आयोग के अनुसार लाभ दिया जाए। सीधी भर्ती के सापेक्ष पदोन्नति पद कम से सृजित किए जाएं। इसमें 10 वर्ष सेवा पर पहली पदोन्नति, 16 वर्ष पर दूसरी और 26 वर्ष पर तीसरी पदोन्नति किया जाना जरुरी है। सांसद ने मुख्यमंत्री के सामने उनकी मांगें रखने का भरोसा दिया। इसके बाद सचिव राज्यसभा सांसद कांता कर्दम के आवास पर उनसे मुलाकात करने पहुंचे, लेकिन वह आवास पर नहीं होने की वजह से नहीं मिलीं। इसके बाद सभी लोग विकास भवन पहुंचे और धरना दिया। इस दौरान ज्ञापन देकर अपनी मांगें उठाई। साथ ही ऐलान किया कि जब तक मांगें पूरी नहीं होगी कार्यबंद रखेंगे। धरने के बाद दतावली रोड स्थित एक रिसार्ट में ग्राम पंयायत सचिवों और ग्राम प्रधान संगठन की बैठक हुई। ग्राम प्रधानों ने सचिवों की मांगें जायज बताते हुए उनकी हड़ताल का समर्थन किया। अध्यक्ष ओंकारनाथ दुबे, सोहनवीर सिंह, शशि शर्मा, नरेंद्र सिंह, सुषमा शर्मा, अजय गुप्ता, नीरज कुमार आदि रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bike railly