अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महाठग का निकला PAK कनेक्शन: पास से मिलीं 20 जिलों के SSP-DM की मुहरें

मेरठ ठग

1 / 3मेरठ ठग

दिल्ली हाईकोर्ट का रजिस्ट्रार बनकर ठगी करने वाला गिरफ्तार

2 / 3मेरठ

मेरठ ठग

3 / 3मेरठ ठग

PreviousNext

लालकुर्ती पुलिस ने दिल्ली हाईकोर्ट और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग का रजिस्ट्रार बनकर ठगी करने वाले अजय कुमार गर्ग को गिरफ्तार किया है। उसके पास से राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कई विभागों के फर्जी लेटर हेड बरामद हुए हैं। आरोपी ट्रांसफर-पोस्टिंग, विवादित जमीनों और लंबित मामलों के निपटारे के लिए रकम वसूलता था।  इसके साथ दिल्ली स्थित पाकिस्तानी दूतावास से बातचीत का खुलासा हुआ है।

पुलिस ने उसके घर से हजारों की संख्या में फर्जी दस्तावेज, जमीनों के कागजात और लेटर हेड बरामद किए हैं। यह नटवरलाल, मुख्यमंत्री से लेकर डीजीपी और प्रमुख सचिव कार्यालय को भी फर्जी लेटर हेड पर पत्र लिखकर कई मामलों में कार्रवाई करने या कार्रवाई रोकने की सिफारिश कर चुका है। रजबन निवासी ओमवती ने एक जुलाई को कुछ लोगों पर मारपीट और लूटपाट का आरोप लगाया था।

महाठग का पाकिस्तान कनेक्शन: धर्म बदलकर रहता था आरोपी, खुफिया एजेंसियों में हड़कंप

इसी मामले में दो जुलाई को दिल्ली हाईकोर्ट के सेवा निवृत्त जनरल रजिस्ट्रार और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के रजिस्ट्रार अजय कुमार गर्ग के लेटर हेड पर एक पत्र एसएसपी मेरठ को भेजा गया। ये पत्र एसएसपी की ओर से एसपी सिटी के पास से होते हुए लालकुर्ती थाने पहुंचा और मुकदमा दर्ज हो गया। इस प्रकरण में आठ जुलाई को इंस्पेक्टर लालकुर्ती सुधीर कुमार के मोबाइल पर एक नंबर से फोन आया और आरोपियों की गिरफ्तारी में देरी को लेकर हड़काया गया।

कॉल करने वाले ने खुद को मानवाधिकार आयोग का रजिस्ट्रार बताया। बातचीत के तरीके और धमकी देने के चलते इंस्पेक्टर को कुछ शक हुआ। उन्होंने इस मामले में जांच शुरू कर दी और एसएसपी को भी 12 जुलाई को पूरे प्रकरण में रिपोर्ट भेज दी। दूसरी ओर मोबाइल फोन की लोकेशन मेरठ के गंगानगर में मिलने पर शक और पक्का गया। शुरुआती जांच के आधार पर शुक्रवार को पुलिस ने गंगानगर एम-ब्लाक मकान नंबर 175 पर दबिश दी।

मकान से अजय कुमार गर्ग को पकड़ा गया। उसके घर से छह मोबाइल फोन, मेरठ समेत वेस्ट यूपी में कई जिलों में विवादित जमीन से जुड़े नक्शे, बिल्डिंग के नक्शे, हजारों की संख्या में सरकारी दस्तावेज, दर्जनों पुलिस-प्रशासनिक और न्यायिक अधिकारियों के जाली लेटरहेड और मुहर मिले। पुलिस के अनुसार पकड़ा गया आरोपी अजय कुमार गर्ग (65) मूल रूप से शामली के कैराना का रहने वाला है। पुलिस उसके असली नाम और पते की छानबीन में जुटी है। लालकुर्ती थाने में धोखाधड़ी समेत गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Arrested cheating by becoming Delhi registrar registrar