DA Image
24 सितम्बर, 2020|10:46|IST

अगली स्टोरी

कविनगर इंस्पेक्टर के खिलाफ एडीजी ने बैठाई जांच

कविनगर इंस्पेक्टर के खिलाफ एडीजी ने बैठाई जांच

गाजियाबाद निवासी रिटायर्ड इंस्पेक्टर को फर्जी मुकदमे में जेल भेजने वाले कविनगर इंस्पेक्टर के खिलाफ एडीजी ने जांच बैठा दी है। इस मामले में रिटायर्ड इंस्पेक्टर के पक्ष में उत्तर प्रदेश पेंशनर्स कल्याण समिति गाजियाबाद और मेरठ पदाधिकारियों व बाकी सदस्यों ने एडीजी से सोमवार को शिकायत की थी। कुछ सबूत भी सौंपे गए और तथ्य भी बताए। इसके बाद यह कार्रवाई की गई है।

रिटायर्ड इंस्पेक्टर बालकिशन भाटी वर्तमान में गाजियाबाद के चिरंजीव विहार कॉलोनी में रह रहे हैं। रिटायर्ड इंस्पेक्टर का 21 अगस्त को अपने बेटे से घर में विवाद हो गया था। बेटे ने पुलिस को बुलाकर पिता को गिरफ्तार करा दिया। इस मामले में रिटायर्ड इंस्पेक्टर को पुलिस ने हथियार बरामद दिखाकर जेल भेज दिया। बालकिशन भाटी को जेल भेजने के मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस पेंशनर्स कल्याण संस्थान गाजियाबाद और मेरठ पदाधिकारियों समेत दर्जनों रिटायर्ड पुलिस अधिकारी एडीजी राजीव सबरवाल से सोमवार को मिले। उन्होंने पूरे मामले को प्रायोजित बताया। कहा कि बालकिशन भाटी से एक .32 बोर की पिस्टल और 315 बोर के कारतूस दिखाए गए हैं। पिस्टल में तमंचे के कारतूस डालना कैसे संभव है। साथ ही क्या 65 साल का बुजुर्ग एक जवान व्यक्ति पर हमला कर घायल कर सकता है। आरोप लगाया कि कविनगर थाने के इंस्पेक्टर और दरोगा की बालकिशन भाटी के बेटे से परिचय है। इसलिए पुलिस ने फर्जी मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा। साथ ही इस मामले में कविनगर इंस्पेक्टर मोहम्मद असलम के खिलाफ कुछ अन्य आरोप भी लगाए। एडीजी ने मामले में जांच बैठा दी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:ADG sits inquiry against Kavinagar inspector