aabkari - शराब ठेकों पर किसी भी सूरत में न हो ओवररेटिंग : आबकारी आयुक्त DA Image
12 दिसंबर, 2019|11:33|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शराब ठेकों पर किसी भी सूरत में न हो ओवररेटिंग : आबकारी आयुक्त

शराब ठेकों पर किसी भी सूरत में न हो ओवररेटिंग : आबकारी आयुक्त

प्रदेश के आबकारी आयुक्त पी. गुरू प्रसाद ने शुक्रवार को अचानक मेरठ पहुंचकर मेरठ-सहारनपुर मंडल के आबकारी अफसरों के साथ बैठक की। मेरठ में शराब ठेकों पर ओवररेटिंग की शिकायतों पर इंस्पेक्टरों से नाराजगी जताई और इसे हर सूरत में रोकने के निर्देश दिए। डिस्टलरियों पर भी पैनी निगाह रखने के साथ आबकारी निरीक्षकों की जिम्मेदारी तय की।

हिन्दुस्तान के साथ बातचीत में आबकारी आयुक्त पी. गुरू प्रसाद ने कहा कि मेरठ में शराब ठेकों पर ओवररेटिंग की शिकायत शासन स्तर तक पहुंची थी। यहां अधिकारियों और खासतौर पर इंस्पेक्टरों को निर्देश दिए कि शराब ठेकों पर शराब बिक्री में ओवररेटिंग न होने दें। अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दी। कहा कि अब जहां की शिकायतें मिलेगी, उस क्षेत्र के अफसर को जिम्मेदार मानते हुए कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने सहारनपुर डिस्टलरी की शिकायत पर सख्ती की बात कही। कहा कि 300 किलोमीटर के दायरे में डिस्टलरी से गाड़ी के निकलने में एक दिन का औसत होना चाहिए, जबकि यह तीन से चार दिन का आने की शिकायत थी। ऐसे में डिस्टलरियों पर अफसरों को पैनी नजर रखने के निर्देश दिए। सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी कराने को कहा। वाहन गेट पास आबकारी निरीक्षक वहां मौजूद रहकर बनवाएंगे।

उन्होंने कहा कि अवैध शराब का धंधा किसी भी सूरत में नहीं होने देंगे। इस दौरान अपर आबकारी आयुक्त दिव्य प्रसाद गिरी, संयुक्त आबकारी आयुक्त राजेश मणि त्रिपाठी, उप आबकारी आयुक्त डॉ. सुरेंद्र चंद पटेल, जिला आबकारी अधिकारी आलोक कुमार मौजूद रहे। दूसरी ओर, बैठक में आबकारी दुकानों और राजस्व को लेकर भी अधिकारियों को निर्देशित किया। इंस्पेक्टरों को उनकी जिम्मेदारी बताई और निभाने के साथ जॉब वर्क के मुताबिक कार्य करने को कहा। बैठक में आबकारी आयुक्त के तेवर देख अफसरों के पसीने छूट गए। इस दौरान बिजली गुल होने के कारण बैठक में काफी देर अंधेरा रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:aabkari