DA Image
28 सितम्बर, 2020|1:18|IST

अगली स्टोरी

बाइक बोट कंपनी का 50 हजार का इनामी डायरेक्टर गिरफ्तार

default image

चार हजार करोड़ के बाइक बोट घोटाले में ईओडब्लू यानी आर्थिक अपराध शाखा ने कंपनी के निदेशक और 50 हजार के इनामी सुनील कुमार प्रजापति को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी बुलंदशहर से की गई है, हालांकि कागजात में इनकी धरपकड़ जुर्रानपुर फाटक से बताई जा रही है। ईओडब्लू जांच कर रही है और पूर्व में बड़ी कार्रवाई कर चुकी है। शासन ने भी रिपोर्ट तलब की है।

बाइक बोट कंपनी बनाकर लोगों से चार हजार करोड़ की धोखाधड़ी की गई थी। इस मामले में नोएडा और अन्य जगहों पर कंपनी के डायरेक्टरों और बाकी के खिलाफ 56 मुकदमे दर्ज कराए गए। बाद में सभी मामलों की जांच ईओडब्लू मेरठ को दी गई थी। अभी तक नामजद 20 आरोपियों में से 12 को जेल भेजा जा चुका है। फरार चल रहे डायरेक्टर सुनील कुमार प्रजापति पर 50 हजार का इनाम घोषित किया गया था। उसकी लगातार तलाश थी। सुनील कुमार बुलंदशहर के गिरधरपुर नवादा का रहने वाला है। सूत्रों की मानें तो सोमवार को बुलंदशहर से सुनील कुमार की गिरफ्तारी कर ली गई। हालांकि उसकी धरपकड़ जुर्रानपुर फाटक के पास दिखाई है। नोएडा पुलिस को भी सूचना दी गई है।

बताया गया है कि आरोपी सुनील कुमार कानपुर में गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड कंपनी में भी डायरेक्टर है। इसी कंपनी में 2017 में वह एडिशनल डायरेक्टर था। इसी कंपनी के माध्यम से आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर लोगों से धोखाधड़ी की। वर्ष 2018 में इस कंपनी से इस्तीफा दे दिया। हालांकि कंपनी से अप्रत्यक्ष रूप से जुड़ा रहा और जेल में बंद बाइक बोट घोटाले के आरोपियों को बाहर से पैरवी के लिए मदद कर रहा है। इसी कारण इस पर ईओडब्लू के एसपी रामसुरेश यादव ने इनाम घोषित कराया और अब धरपकड़ की गई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:50 thousand prize director of bike boat company arrested