DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रंगदारी व शराब बरामदगी में दो आरोपितों को जमानत नहीं

रंगदारी तथा शराब बरामदगी के दो अलग-अलग मामले में गुरुवार को जिला जज राजेंद्र कुमार की अदालत में सुनवाई हुई। सुनवाई के बाद न्यायाधीश ने दोनों आरोपियों की जमानत अर्जी प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए नामंजूर कर दिया। न्यायाधीश ने यह आदेश बचाव पक्ष के अधिवक्ता एवं जिला शासकीय अधिवक्ता हरिद्वार राय के तर्कों को सुनने के बाद दिया। पहला मामला रंगदारी मांगने से संबंधित है। मुहम्दाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र के करहां बाजार में वादी अरूण कुमार मौर्य की दवा की दुकान है। रोज की भांति वह अपने दुकान पर बैठा था। 24 अप्रैल को वादी की मोबाइल पर फोन आया कि हम डी 7 गैंग के हैं। पांच लाख रुपये एक सप्ताह के भीतर दे दो नहीं तो जान से हाथ धोना पड़ेगा। इस मामले में आवेदक आरोपी आजमगढ़ जनपद के तरवां थाना क्षेत्र निवासी सूर्यांश दूबे की जमानत अर्जी जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने खारिज कर दी। दूसरा मामला शराब बरामदगी से संबंधित है तथा सरायलखसी थाना क्षेत्र के अदरी मोड़ की है। ब्रांडेड कम्पनियों का फर्जी रेपर लगाकर शीशी में अपमिश्रित शराब तैयार कर बिहार भेजने की तैयारी कर रहे 6 आरोपियों को स्वाट टीम व सरायलखंसी थाना की पुलिस ने संयुक्त रूप से छापा मारकर भारी मात्रा में शराब बरामद किया। घटना 9 मई की है। जिला जज ने इस मामले में आरोपी बलिया जनपद के खेजुरी थाना क्षेत्र के खेजुरी निवासी लक्ष्मण प्रसाद गुप्ता की जमानत अर्जी खारिज कर दी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Two accused in bailout in liquor and liquor seizures are not bailed