DA Image
6 मार्च, 2021|1:41|IST

अगली स्टोरी

मनरेगा में धांधली: मऊ में तीन संविदाकर्मी बर्खास्त, बीडीओ समेत सात पर एफआईआर

तीन संविदाकर्मी बर्खास्त, बीडीओ समेत सात पर एफआईआर

मऊ में रानीपुर ब्लाक के कमरवां गांव में दस लाख रुपये से मनरेगा के तहत कराये गये कार्यों में वित्तीय अनियमितता उजागर होने के बाद आखिरकार शुक्रवार को तत्कालीन बीडीओ रानीपुर समेत सात लोगों के खिलाफ एफआईआर करा दी गयी। इसमें तीन संविदा कर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया। डीएम के निरीक्षण में कमरवां गांव में भारी अनियमितता मिलने पर यह कार्रवाई की गयी। डीडीओ ने पूरे मामले में चिरैयाकोट थाने में कार्रवाई करायी।

कमरवां गांव में खड़ंजा में घटिया सामग्री का प्रयोग करने के दौरान जिलाधिकारी को गांव में कराये गये समतलीकरण समेत अन्य गांवों में हुए कार्यों में 10 जून को अनियमितता मिली थी। इसमें दस लाख रुपये का गबन का मामला आने पर जिलाधिकारी ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। इसे लेकर मुख्य विकास अधिकारी रामसिंह वर्मा के निर्देशन में सभी सम्मिलित अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई के लिए जिला विकास अधिकारी विजय शंकर राय व जिला पंचायत राज अधिकारी को आदेशित कर दिया था। इसके तहत गुरुवार को ही जिला पंचायत राज अधिकारी घनश्याम सागर ने वित्तीय अनियमितता के मामले में कमरवां गांव के ग्राम पंचायत अधिकारी विजय शंकर सिंह को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया था।

मामले में ग्राम प्रधान गोविंद राम को नोटिस देकर एक माह के भीतर अपना स्पष्टीकरण देने के लिए निर्देशित किया है। उधर तत्कालीन बीडीओ हरिवंश प्रसाद और लेखा सहायक को निलम्बित करने की भी संस्तुति कर दी गयी है। मामले में संलिप्त संविदा कर्मी एपीओ मनरेगा असलम परवेज अंसारी, तकनीकी सहायक अजय कुमार सिंह व रोजगार सेवक मंजू देवी को बर्खास्त कर दिया गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Three contract workers dismissed FIR including BDO on seven