DA Image
13 जुलाई, 2020|10:02|IST

अगली स्टोरी

दूसरे राज्यों से आए प्रवासी श्रमिकों की हुई थर्मल स्क्रीनिंग

दूसरे राज्यों से आए प्रवासी श्रमिकों की हुई थर्मल स्क्रीनिंग

कोरोना महामारी को लेकर पूरे देश में चल रहे लाकडाउन के चलते सभी बड़े महानगरों में उद्योग धंधे बंद होने से वहां काम करने वाले मजदूर वर्ग के लोगों का पलायन अपने घरों के लिए जारी है। इस क्रम में प्रत्येक दिन बसों के सहारे जिले में पहुंच रहे सैकड़ों की संख्या में प्रवासी श्रमिकों का स्वास्थ्य विभाग द्वारा थर्मल स्कैनिंग का कार्य किया जा रहा है। इसके लिए जीवन राम छात्रावास के मैदान में प्रशासन द्वारा टेंट आदि डालकर टेबल लगाये गये हैं। यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए श्रमिक कतारों में अपनी बारी का इंतजार करते देखे गये।

देश में कोरोना महामारी से बचाव के लिए लाकडाउन-थ्री का पालन करते हुए लोग सरकार का सहयोग कर रहे हैं। लेकिन इस बीच महानगरों में बंद हुए उद्योग धंधे के चलते गये श्रमिकों को अनेक प्रकार की दुश्वारियां झेलने को मजबूर हो गये। इस कारण सभी श्रमिकों की दुश्वारियों को देखते हुए केन्द्र सरकार द्वारा श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाकर उन्हें उनके गंत्व्य तक पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। इस क्रम में नजदीक के रेलवे स्टेशनों पर पहुंचे श्रमिकों को अपने गृह जनपद पहुंचाने के लिए रोडवेज बसों से भेजवाया जा रहा है। जिले में भी प्रतिदिन दर्जनों की संख्या में अन्य जनपदों से लेकर बसें श्रमिकों को लेकर आ रही है। जीवनराम छात्रावास के मैदान में प्रशासन की ओर से आ रहे श्रमिकों की थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था समेत अन्य जांच की सुविधा मुहैया करायी गयी है। यहां आने वाले प्रत्येक श्रमिकों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए कतारबद्ध खड़ा कर सबका थर्मल स्कैंनिंग व नाम पता व मोबाइल नम्बर स्वास्थ्य विभाग कर्मियों द्वारा मेंटेन किया जा रह है। यहां से सब कुछ सामान्य पाये जाने पर इन श्रमिकों को उनके गांव जाने और घर में 14 दिन तक होम क्वारंटीन होने की जानकारी देते हुए भेजा जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Thermal screening of migrant workers from other states