Shri Khatu Shyam s Journey of the Nirvotsav - श्री खाटू श्याम की निकाली निशानोत्सव यात्रा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्री खाटू श्याम की निकाली निशानोत्सव यात्रा

श्री खाटू श्याम की निकाली निशानोत्सव यात्रा

शहर क्षेत्र के ढेकुलिया घाट स्थित निर्माणाधीन त्रिदेव मंदिर प्रांगण में रविवार को त्रिदेव मन्दिर परिवार के तत्वाधान आयोजित श्याम फाल्गुन उत्सव-2019 से पूरा शहर श्याममय हो गया। श्री खाटू श्याम के दर्शन वन्दन के लिए भक्तों का मेला लगा रहा एवं श्याम बाबा के जयकारों से उत्सव स्थल गूंजयमान हो गया। मन्दिर प्रांगण ‘खाटू नरेश की जय‘, श्याम बाबा की जय, तीन बाण धारी, कलियुग अवतारी, हारे के सहारे आदि जयकारों से गूंज रहा था। त्रिदेव मन्दिर से आजमगढ़ मोड़ स्थित दुर्गा मन्दिर तक भव्य निशान यात्रा निकाली गयी। फाल्गुन महोत्सव को लेकर श्री श्याम मंदिर में निशान पूजा व शाम को भजन संध्या एंव प्रसाद का आयोजन किया गया था। भजन संध्या की शुरूवात शाम सात बजे से श्री श्याम प्रभु एवं समस्त देवी-देवताओं के पूजा-अर्चन व ज्योति से हुई। ज्योति प्रज्जवलन श्री पवन खण्डेलवाल जी द्वारा सपरिवार की गई। भजन संध्या की शुरूवात विजय तुलस्यान ने गणेश वन्दन से किया। भजनों की अमृतवर्षा में डूबे श्रद्धालु जिन्हें भरोसा श्याम का है जिनको पक्का विश्वास, उनको मिलता श्याम सहारा, संकट कभी न आता पास, सजा है दरबार बाबा का, श्याम के रंग में रंग जाओ, आजा मेरे खाटुवाले बाबा, हीरे मोती से नजर उतारू आदि से लोग भाव-विभोर हो गये। नितीन खण्डेलवाल के भजनों पर श्याम दीवाने फाल्गुन की मस्ती मे नाचते हुउ सांवरिया खींचे डोर, भक्त खींचे आये..., आया फाल्गुन मेलों, बाबा मारे हेलो, जैसे श्याम भजनो पर लोग मंत्रमुग्ध हो गये। इसी क्रम में श्री पवन बासोतिया, कोमल अग्रवाल, अनिमेष इत्यादि लोगों ने अपने भजनों से श्री मंदिर परिसर गूंज उठा। भजनों की प्रस्तुति सुन श्रद्धालु तालियां बजाने को विवश हो गए। बाबा श्याम में साथ सभी भक्तों से मिलकर फुलों और गुलाल से होली भी खेली। त्रिदेव मन्दिर से आजमगढ़ मोड़ स्थित दुर्गा मन्दिर तक भव्य निशान यात्रा निकाली गयी। जिसमें रास्ते में स्थित दक्षिणेश्वर हनुमान मन्दिर, राम मन्दिर, दुर्गा मन्दिर आदि पुजारीयों ने आरती उतारी। सभी भक्त मस्ती मे नाचते गाते, बाबा से फुल और गुलाल से होली खेलते हुए चल रहे थे। महोत्सव के सफल आयोजन में विजय तुलस्यान, विजय केडिया, पवन बासोतिया, महेन्द्र खण्डेलवाल, नितीन खण्डेलवाल, मनु बासोतिया, विकास, धनश्याम, पवन, संदीप अग्रवाल (एड़), मुनमुन, रवी, मुकेश आदि ने सामूहिक योगदान दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shri Khatu Shyam s Journey of the Nirvotsav