ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मऊआरटीई: 53 फॉर्म रिजेक्ट 680 का मुफ्त प्रवेश

आरटीई: 53 फॉर्म रिजेक्ट 680 का मुफ्त प्रवेश

शिक्षा का अधिकार के तहत प्राइवेट स्कूलों में 25 फीसद कोटे में प्रवेश के लिए पहले चरण के ऑनलाइन आवेदन में 1432 फॉर्म...

आरटीई: 53 फॉर्म रिजेक्ट 680 का मुफ्त प्रवेश
हिन्दुस्तान टीम,मऊThu, 29 Feb 2024 12:30 AM
ऐप पर पढ़ें

मऊ। शिक्षा का अधिकार के तहत प्राइवेट स्कूलों में 25 फीसद कोटे में प्रवेश के लिए पहले चरण के ऑनलाइन आवेदन में 1432 फॉर्म पड़े। इसमें से 53 फार्म सत्यापन के समय रिजेक्ट हो गए, 1379 फॉर्मो का बीएसए की देख-रेख में पहली लॉटरी खोली गई। इसमें 680 छात्रों का चयन हुआ है। दूसरे चरण का ऑनलाइन आवेदन 1 मार्च से 30 मार्च तक होगा। तीसरे चरण का ऑनलाइन आवेदन 15 अप्रैल से 8 मई और चौथे चरण का एक से 20 जून तक किया जा सकता है। इसके तहत बच्चों को ड्रेस, किताब और बैग के लिए पांच हजार रुपये और 450 रुपए प्रति माह की दर से फीस प्रतिपूर्ति के रूप में विद्यालयों को नियमानुसार भुगतान की जाएगी।

जिला समन्वयक आलोक सिंह ने बताया कि निशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के तहत प्राइवेट स्कूलों में 25 फीसद सीटों पर गरीब बच्चों को प्रवेश सरकार दिलाती है। इनकी फीस की धनराशि सरकार देती है। इसके लिए पहले चरण में 20 जनवरी से आवेदन मांगे गए थे। कुल 1432 आवेदन जिले भर में विभाग को मिले, लेकिन अधिकारियों द्वारा किए गए सत्यापन में बड़ी संख्या में आवेदन रिजेक्ट हो गए। 53 फॉर्म तकनीकी खामियों के कारण रिजेक्ट हो गए। बीएसए संतोष कुमार उपाध्याय की देख-रेख में लॉटरी प्रक्रिया संपन्न हुई। कुल 1379 आवेदन लॉटरी प्रक्रिया में शामिल हुए। इसमें 680 बच्चों का चयन किया गया है। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण में पात्र अभिभावक एक मार्च से 30 मार्च तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। एक अप्रैल से सात अप्रैल तक आवेदन पत्रों का सत्यापन कर उन्हें लॉक किया जाएगा। लॉटरी 8 अप्रैल को निकाली जाएगी। 17 अप्रैल तक बीएसए स्तर से स्कूल में दाखिल कराया जाएगा। अगर किसी कारण से अभिभावक इस चरण में भी वंचित रह जाते हैं तो उन्हें तीसरे चरण में 15 अप्रैल से 8 मई के बीच आवेदन करने का फिर से मौका मिलेगा। इन आवेदनों का 9 मई से 15 मई के बीच बीएसए स्तर से सत्यापन किया जाएगा। 26 मई को लॉटरी निकाली जाएगी। इसके बाद 23 मई तक स्कूल में प्रवेश करा दिया जाएगा। वहीं अंतिम चरण के लिए एक से 20 जून तक आवेदन होगा। 21 से 27 जून तक सत्यापन और 28 जून को अंतिम लॉटरी निकाली जाएगी। स्कूल आवंटन के बाद 7 जुलाई तक नामंकन करा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन आवेदन WWW. rte. upsdc. gov. in पर किया जा सकता है। टाइमलाइन के बाद किसी भी प्रकार के आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

इन्हें मिलेगा योजना का लाभ

मऊ। योजना में दो कटेगरी के लोगों को लाभ दिया जाना है। पहला अलाभित समूह की श्रेणी में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, सामाजिक व भौतिक रूप से पिछड़े वर्ग, निशक्त बच्चों, एचआईवी/ कैंसर पीड़ित माता-पिता अथवा अभिभावक का बच्चा या निराश्रित बेघर बच्चे को रखा गया है। दुर्बल वर्ग की श्रेणी में जिसके माता-पिता या सरंक्षक गरीबी रेखा के नीचे, दिव्यांग/ वृद्धावस्था/ विधवा पेंशन प्राप्त करते हैं या जिनकी अधिकतम वार्षिक आय एक लाख रुपये तक है, उनको रखा गया है। गैर सहायता मान्यता प्राप्त विद्यालयों में प्री-प्राइमरी व कक्षा एक में दाखिला कराया जाता है। प्रारूप वेबसाइड पर उपलब्ध है। आवेदन की एक कॉपी बीएसए या बीआरसी में जमा करना होगा।

पहले चरण की प्रक्रिया पूरी

आरटीई के तहत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए पहले चरण की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। दूसरे चरण की ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया 1 मार्च से शुरू होगी। विभाग ने विस्तृत कार्यक्रम जारी कर दिया है। प्रवेश से जुड़ी किसी प्रकार की जानकारी के लिए खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय से संपर्क किया जा सकता है। आवेदन ऑनलाइन ही स्वीकार होंगे।

- संतोष कुमार उपाध्याय, बीएसए,मऊ।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें