Prayer of the second zoom read in the Mau - मऊ में अकीदत से पढ़ी गई दूसरे जुमे की नमाज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मऊ में अकीदत से पढ़ी गई दूसरे जुमे की नमाज

पाक माह रमजान को लेकर रोजेदारों में काफी उत्साह है। रमजान माह के दौरान दिन ढलने के बाद शाम को बाजार गुलजार हो जा रहे हैं। उधर रमजान माह के दूसरे शुक्रवार को रोजेदारों ने अकीदत के साथ नमाज अता की। वहीं रमजान माह को देखते हुए बाजार में जलेबी, पकौड़ी, खूजर समेत अन्य खाद्य पदार्थों बिक्री काफी जोरशोर से होने लगा है। माह-ए-रमजान को लेकर रोजेदारों में उत्साह काफी चरम पर है। वहीं पूरे जिले में माह रमजान को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। ताने-बाने के मऊ जिले में पाक माह रमजान को लेकर मुस्लिम भाइयों में काफी उत्साह है। रमजान माह दूसरे जुमे को शुक्रवार के दिन मुस्लिम भाइयों ने अकीदत के साथ जुमे की नमाज अदा किया। पाक माह रमजान को लेकर सबसे ज्यादा चहल-पहल शहर क्षेत्र के सिंधी कालोनी, रौजा बाजार, सदर चौक, संस्कृत पाठशाला, डीएवी स्कूल, मिर्जाहादीपुरा आदि क्षेत्रों में देखा गया। बाजार में रमजान माह को देखते हुए खजूर समेत सेब, संतरा, अनार, केला, चना समेत अन्य खाद्य पदार्थों की मांग काफी बढ़ गया है। रोजेदार शमशाद का कहना है कि रमजान माह बरकतों व रहमतों का महीना होता है, इसलिए इस माह में लोग एक-दूसरे को खूब अलग-अलग व्यंजन खिलाते हैं। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि भूखों को रोटी व प्यासों को पानी पिलाने से ही असली बरकत मिलती है। यही कारण है कि इस माह में खाद्य पदार्थों की मांग भी काफी बढ़ जाता है। वहीं रमजान माह को देखते हुए बाजार में जलेबी, पकौड़ी, खजूर समेत सेब, संतरा, अनार, केला, चना समेत अन्य खाद्य पदार्थों की मांग काफी बढ़ गया है। रोजेदार इंतेयाज, अजहर, इमरान, इश्तेयाक का कहना है कि रमजान माह बरकतों व रहमतों का महीना होता है, इसलिए इस माह में लोग एक-दूसरे को खूब अलग-अलग व्यंजन खिलाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Prayer of the second zoom read in the Mau