अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन दिन से बिजली आपूर्ति बेपटरी

शहर कोतवाली अंतर्गत पुराना पावर हाउस में स्थापित ट्रांसफार्मर में तीन दिन पूर्व आई तकनीकी खराबी के कारण शहर क्षेत्र में बिजली आपूर्ति काफी प्रभावित चल रहा है। बिजली के अभाव में सबसे ज्यादा परेशानी बुनकरों, किसानों व व्यापारियों को झेलनी पड़ रही है। एक तरफ अनियमित बिजली आपूर्ति दूसरी तरफ भीषण गर्मी के कारण आम जनता की दिनचर्या काफी प्रभावित हो गया है। नागरिकों ने चेताया है कि अगर जल्द से जल्द बिजली आपूर्ति को सुचारु नहीं किया गया तो सड़क पर उतरकर आंदोलन किया जाएगा।

ताने-बाने के मऊ शहर क्षेत्र स्थित पुराना पावर हाऊस में स्थापित ट्रांसफार्मर तीन दिन पूर्व तकनीकी खराबी आने के कारण जल गया था। लेकिन दिन बीतने के बाद भी अभी तक पुराना पावर हाऊस में आई तकनीकी खराबी को दुरुस्त नहीं किया जा सका है। तकनीकी खराबी के कारण फीडर नम्बर चार व फीडर नम्बर पांच की बिजली आपूर्ति पूरी तरह से प्रभावित हो गया है। हालत यह है कि पिछले तीन दिनों से शहर क्षेत्र के निजामुद्दीनपुरा, भीटी, रेलवे फाटक, सिंधी कालोनी, रौजा बाजार, सदर चौक तक बिजली आपूर्ति पूरी तरह से प्रभावित हो गया है। स्थिति यह है कि बिजली विभाग के अधिकारी व कर्मचारी कड़ी मशक्कत करके फीडर संख्या चार व पांच में शिफ्टवार दूसरे फीडर से कनेक्शन जोड़कर चार या पांच घंटे बिजली आपूर्ति कर रहे हैं। वैसे भी जिले में बिजली आपूर्ति की व्यवस्था काफी खस्ताहाल हो गया है।

बिजली कटौती का सीधा असर बुनकरों के रोजी रोजगार पर पड़ रहा है। इसी प्रकार बुनकर बाहुल्य मुहम्मदाबाद गोहना तहसील क्षेत्र में बिजली आपूर्ति काफी खस्ताहाल है। स्थानीय क्षेत्र के  बुनकर बाहुल्य गांव अतरारी, खैराबाद व ग्रामीण अंचल में इन दिनों लगातार हो रही अघोषित बिजली कटौती के चलते बुनकर परेशान हैं। बिजली के आने-जाने का कोई निर्धारित शेड्यूल नहीं है। बिजली कब आएगी और कब जाएगी इसका कोई पता नहीं है। यदि आती भी है तो लो वोल्टेज की समस्या साथ लिए रहती है। इससे बुनकरों का पावरलूम नहीं चल पाता है।

इधर तीन दिनों से तो स्थिति और दयनीय हो गई है। दिन व रात बिजली बार-बार आने-जाने का सिलसिला लगा रहता है। इससे लोगों का कोई कार्य समुचित ढंग से नहीं हो पाता है। इसके कारण जहां बुनकरों की रोजी-रोटी प्रभावित हो रही है वहीं उमस भरी गर्मी से लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र में तीन दिनों से रात-दिन हो रही अघोषित कटौती से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। जरा सी हवा व हल्की सी बारिश में बिजली बंद हो जाती है और लोग जब बिजली बंद होने का कारण जानने सब स्टेशन जाते हैं या विभाग में फोन करते हैं तो वहां के कर्मचारियों का रटा-रटाया जवाब होता है कि ब्रेकडाउन के कारण बिजली बंद की गई है। इससे पेयजल संकट का भी लोगों को सामना करना पड़ रहा है। बिजली कटौती के चलते जहां बुनकरी का कार्य प्रभावित हो रहा है वहीं गांवों में छोटे-छोटे दुकानदार जो फोटो कॉपी व कंप्यूटर का काम करते है, उनका व्यवसाय प्रभावित हो रहा है। जिलेभर में बिजली आपूर्ति की खस्ताहाल स्थिति को लेकर स्थानीय नागरिकों ने चेताया है कि अगर जल्द ही बिजली आपूर्ति की व्यवस्था को सुदृढ़ नहीं किया गया तो सड़क पर उतरकर आंदोलन किया जाएगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Power supply disrupted for three days