Mou neem peepal and banyan will reduce pollution - मऊ: नीम, पीपल और बरगद घटाएंगे प्रदूषण DA Image
13 दिसंबर, 2019|8:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मऊ: नीम, पीपल और बरगद घटाएंगे प्रदूषण

मऊ: नीम, पीपल और बरगद घटाएंगे प्रदूषण

जनपद में प्रदूषण मुक्त करने के लिए वन विभाग की ओर से कारगर पहल की गयी है। इसके तहत पीपल, बरगद और नीम के दस हजार पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस साल तीन प्रतिशत पौधे भी रोप दिये गये हैं। इसमें 100 पीपल, 100 बरगद और 100 नीम के पौधों को लगाया गया है। अब नौ अगस्त को पौधरोपण का शुभारम्भ किया जायेगा। इसके लिए जनपद में कुल 23 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इसको लेकर वन विभाग पूरी तरह से तैयारियों में जुट गया है।

प्रदूषण से बचने के लिए जनपद में पौधरोपण की पूरी तैयारी कर ली गयी है। इसमें पीपल, बरगद और नीम के पौधों को लेकर वन विभाग खास सतर्क है। दस हजार इस तरह के पौधे लगाये जाने हैं। जिसमे दो हजार पीपल, दो हजार बरगद और दो हजार नीम के पौधे लगाने का लक्ष्य है। नौ अगस्त को पौधरोपण का कार्यक्रम होगा। इसमें पूरे जिले में 23 लाख पौधे लगाये जायेंगे। पौधों की देख रेख और जमीनों के चयन के लिए भी वन विभाग ने रणनीति तैयार की है। इसके तहत स्कूलों में भी पौधों को लगाने की योजना चल रही है। साथ ही निजी, सरकारी व सार्वजनिक जमीनों पर पौध लगाने के लिए विभाग नि:शुल्क पौध उपलब्ध करायेगा। पौध उपलब्ध कराये जाने के दौरान उन्हें आगे जीवित रखने के लिए भी जोर दिया जा रहा है। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न हो, इसके लिए वन विभाग भी खुद नजर रखेगा।

डीएफओ संजय कुमार विश्वाल बोले

पौधरोपण की देखभाल के लिए स्कूलों में भी अभियान चलाकर बच्चों को भी जागरुक करने का काम किया जा रहा है। प्रत्येक बच्चे को पौधों की देखभाल के लिए जागरुक किया गया है। इसके साथ ही विभाग भी पौधरोपण के बाद पौधों को बचाने के लिए हर सम्भव प्रयासरत है। जनपद में प्रदूषण के मामले में कोई खास प्रभाव नहीं है। क्योंकि यहां पर उद्योग कल कारखाना और वाहनों की आवाज का कोई खास असर नहीं है। इसलिए अधिक से अधिक पौधों को लगाकर प्रदूषण से बचने के लिए विभाग पूरी तरह से तैयारी में जुटा है।

हाइवे और स्टेट मार्ग पर पौधरोपण की दूरी तय

मऊ। पौधरोपण को लेकर हाइवे और स्टेट मार्ग पर भी पौधे रोपे जाने की दूरी तय की गयी है। हाइवे पर सड़क से चार मीटर और स्टेट मार्ग पर सड़क से तीन मीटर की दूरी पर पौधों को रोपा जाना है। इसके लिए पौधे दिये जाने के समय लोगों को स्पष्ट निर्देश दिये जा रहे हैं। पौधों को लगाये जाने के समय भी उनके बीच की दूरी का भी ध्यान दिया जा रहा है, ताकि पौधों को बढ़ने के लिए पर्याप्त जगह मिले।

सरकारी, निजी व सार्वजनिक स्थानों पर पौधरोपण

मऊ। सरकारी पौधरोपण अभियान के तहत जनपद में सरकारी, निजी व सार्वजनिक जमीनों का चयन हो रहा है। इन जमीनों पर ही विभाग नि:शुल्क पौधे उपलब्ध कराकर पौधरोपण का कार्य करेगा। इसके लिए वन विभाग की ओर से पूरी तैयारियां कर ली गयी है। जनपद में पौधरोपण के लक्ष्य में कोई कोर कसर न रह जाये इसके लिए वन अधिकारियों को किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतने की हिदायत दी गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mou neem peepal and banyan will reduce pollution