ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश मऊमुरादाबाद कमिश्नर के चचेरे भाई की हादसे में मौत

मुरादाबाद कमिश्नर के चचेरे भाई की हादसे में मौत

जिले के घोसी स्थित भावनपुर क्षेत्र के अरियासो निवासी और मुरादाबाद के कमिश्नर आंजनेय सिंह के चचेरे भाई की सोमवार देर शाम लाखीपुर फोरलेन के पास सड़क...

मुरादाबाद कमिश्नर के चचेरे भाई की हादसे में मौत
हिन्दुस्तान टीम,मऊTue, 14 May 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

घोसी (मऊ)। जिले के घोसी स्थित भावनपुर क्षेत्र के अरियासो निवासी और मुरादाबाद के कमिश्नर आंजनेय सिंह के चचेरे भाई की सोमवार देर शाम लाखीपुर फोरलेन के पास सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव कब्जे में लेते हुए जांच के लिए पोस्टमार्टम हाउस भेजा। मंगलवार भोर में शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को किया गया सुपुर्द।
मुरादाबाद के कमिश्नर आंजनेय सिंह का पैतृक आवास मऊ जिले के घोसी क्षेत्र अंतर्गत अरियासो गांव में है। उनके चचेरे भाई 38 वर्षीय रुद्र प्रताप सिंह टाइल्स समेत अन्य कारोबार से जुड़े थे। सोमवार देर शाम अरियासो निवासी रुद्र प्रताप सिंह (38 वर्ष) पुत्र दुर्ग विजय सिंह अपने दोस्त अबुल हसन के साथ एक बाइक पर सवार होकर मझवारा मोड़ स्थित एक दुकान पर व्यापार से सम्बंधित पैसे देने के लिए गए थे। बाइक में पेट्रोल कम होने पर तेल भरवाने के लिए लाखीपुर पेट्रोल पंप की तरफ बाइक लेकर जाने लगे। इस दौरान लाखीपुर फोरलेन के पास सड़क किनारे गिट्टी पर बाइक का टायर फिसल जाने से दोनों सड़क किनारे गिर गए। इसी बीच पीछे से आ रहे तेज रफ्तार ट्रैक्टर-ट्रॉली की चपेट में आने से 38 वर्षीय रुद्र प्रताप सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए, जबकि अबुल हसन मुन्ना को हल्की चोट आई। स्थानीय लोगों की मदद से रुद्र प्रताप को निजी अस्पताल लेकर जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस टीम ने ट्रैक्टर ट्रॉली को कब्जे में लिया है, जबकि चालक मौके से फरार हो गया। मंगलवार भोर में पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया।

पत्नी और दो बच्चों की कच्ची गृहस्थी छोड़ गए हैं रुद्र

घोसी। स्थानीय कोतवाली अन्तर्गत अरियासो निवासी प्रतिष्ठित व्यवसायी रुद्र प्रताप सिंह की सड़क दुर्घटना में मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। तीन भाइयों में सबसे छोटे रुद्र अपने व्यवसाय के साथ परिवार की भी जिम्मेदारियों का निर्वहन करते थे। उनके बड़े भाई राम किंकर सिंह महाराष्ट्र के आईडीबीआई बैंक में शाखा प्रबंधक हैं, तो दूसरे भाई अमित सिंह इंफोसिस कंपनी में कार्यरत हैं। रुद्र प्रताप की मौत की सूचना के बाद पिता दुर्ग विजय सिंह, पत्नी शिवानी सिंह समेत बच्चों का रोते-रोते हाल बेहाल है। रुद्र अपने पीछे पत्नी शिवानी सिंह, दो बच्चों छह वर्षीय माही और चार वर्षीय आदित्य की कच्ची गृहस्थी छोड़ गए हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।