DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माह-ए-रमजान मे होती है रहमतों की बारिश

माह-ए-रमजान मे होती है रहमतों की बारिश

पाक माह रमजान को लेकर रोजेदारों में काफी उत्साह है। रमजान माह को देखते हुए बाजार में भी अब धीरे-धीरे रौनक बढ़ती जा रही है। बाजार में जलेबी, पकौड़ी, खूजर समेत अन्य खाद्य पदार्थों बिक्री काफी जोरशोर से होने लगा है। माह-ए-रमजान को लेकर रोजेदारों में उत्साह काफी चरम पर है। उधर रमजान को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। ताने-बाने के मऊ जिले में पाक माह रमजान को लेकर मुस्लिम भाइयों में काफी उत्साह है। रमजान माह को देखते हुए बाजार में चहल-पहल काफी अधिक बढ़ गया। पाक माह रमजान को लेकर सबसे ज्यादा चहल-पहल शहर क्षेत्र के सिंधी कालोनी, रौजा बाजार, सदर चौक, संस्कृत पाठशाला, डीएवी स्कूल, मिर्जाहादीपुरा आदि क्षेत्रों में रहा। रमजान माह को देखते हुए बाजार में जलेबी, पकौड़ी, खजूर समेत सेब, संतरा, अनार, केला, चना समेत अन्य खाद्य पदार्थों की मांग काफी बढ़ गया है। साथ ही साथ रोजेदारों में काफी उत्साह है। रोजेदार अंजर रजा, खुर्शीद, मंजर कलाम, खुर्शीद अहमद का कहना है कि रमजान माह बरकतों व रहमतों का महीना होता है, इसलिए इस माह में लोग एक-दूसरे को खूब अलग-अलग व्यंजन खिलाते हैं। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि भूखों को रोटी व प्यासों को पानी पिलाने से ही असली बरकत मिलती है। यही कारण है कि इस माह में खाद्य पदार्थों की मांग भी काफी बढ़ जाता है। रोजेदारों ने बताया कि इस माह में लोग किसी को भी अपनी जानकारी भर भूखा पेट सोने नही देते हैं। साथ ही साथ जो भी दरवाजे पर आता है उसकी भरपूर मदद की जाती है। रोजेदारों ने कहा कि पाक माह रमजान में अल्लाह सबकी मुराद पूरी करते हैं। रोजेदारों ने बताया कि रमजान माह में अधिक से अधिक नेकी का कार्य करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mahm-e-Ramadan is the rain of Rahmatu