ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश मऊरात में दोपहर जैसी गर्मी, लोगों का हाल बेहाल

रात में दोपहर जैसी गर्मी, लोगों का हाल बेहाल

जिले में इतनी प्रचंड गर्मी पड़ रही है कि रात भी दोपहर की तरह गर्मी का अहसास करा रही है। रात का भी न्यूनतम तापमान पिछले कई दिनों से 30 डिग्री...

रात में दोपहर जैसी गर्मी, लोगों का हाल बेहाल
हिन्दुस्तान टीम,मऊMon, 17 Jun 2024 11:45 PM
ऐप पर पढ़ें

मऊ। जिले में इतनी प्रचंड गर्मी पड़ रही है कि रात भी दोपहर की तरह गर्मी का अहसास करा रही है। रात का भी न्यूनतम तापमान पिछले कई दिनों से 30 डिग्री सेल्सियस के पार बना हुआ। रात में भी भीषण गर्मी से लोगों की नींद पूरी नहीं हो पा रही है।
जिले का अधिकतम तापमान तो मई से ही लगातार 40 डिग्री सेल्सियस के ऊपर चल रहा है। न्यूनतम तापमन भी कभी 29 तो कभी 30 डिग्री सेल्सियस के बीच चल रहा था, लेकिन पिछले तीन दिनों से तो लगातार 30 डिग्री के पार चल रहा है, जिससे रात में भी दोपहर जैसी गर्मी का अहसास हो रहा है। हालत बेहद खराब होते चले जा रहे हैं। दिन में धूप की तेज तपिश और लू से बचने के लिए लोग घरों में कैद रह रहे हैं। शाम को ही घर से बाहर आ रहे हैं फिर भी राहत सिर्फ इस बात की मिल रही है कि सूरज की तपिश से बच जा रहे हैं, लेकिन गर्मी पीछा नहीं छोड़ रही है। रात में भी तापमान अधिक होने से तपिश इतनी अधिक हो रही है कि कूलर हो या पंखे राहत नहीं पहुंचा पा रहे हैं जिससे गर्म हवा निकल रही है। एसी वालों को जरूर कुछ राहत मिल रही है, लेकिन 16 डिग्री पर चलाने के बाद आम दिनों की तरह कूलिंग नहीं मिल रही है, हालांकि उन्हें गर्मी से बहुत हद तक राहत जरूर मिल रही है। रात में भी तेज गर्मी की वजह से बहुत से लोगों की नींद पूरी नहीं हो पा रही है। वहीं, सुबह उठते ही पूरा दिन धूप की तपिश और लू खराब कर दे रही है।

एक डिग्री गिरा अधिकतम तापमान

मऊ। गर्मी के तेवर ढीले नहीं पड़ रहे हैं। घर के बाहर निकलने पर आंच लग रही है और पंखे भी गर्म हवा उगल रहे हैं। हफ्ते भर से जारी गर्मी के कारण घरों की छत और दीवारें तपने लगी हैं। सोमवार को अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि रविवार को पारा 45 डिग्री पर पहुंच गया था। सोमवार को पारे में एक डिग्री की गिरावट होने के बाद भी भीषण गर्मी और उमस से लोग परेशान रहे। वहीं, न्यूनतम तापमान भी दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा। सोमवार को न्यूनतम तापमान एक डिग्री बढ़कर 32 पर पहुंच गया। इस बीच 15 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रही गर्म हवा झुलसाती रही। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार आगामी तीन दिनों तक फिलहाल कोई राहत नहीं मिलने की उम्मीद है। 18 जून से बादलों की आवाजाही के साथ ही तेज हवा चलने और बूंदाबांदी होने की संभावना जताई गई है।

बिजली कटने पर कमरे से बाहर निकल आ रहे लोग

मऊ। रात में अगर बिजली सप्लाई भंग हो जा रही है तो लोग पल भर में ही गर्मी से इतने बेहाल हो जा रहे हैं कि कमरे से बाहर निकल पड़ रहे हैं। शहर की बिजली व्यवस्था तो ठीक है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में तो लोग कटौती से परेशान हो रहे हैं।

दोपहर में पसर जा रहा सन्नाटा

मऊ। गर्मी अधिक पड़ने के कारण जिले की सड़कें दोपहर में सूनी पड़ जा रही हैं। सड़कों पर जहां लोगों के आने-जाने का सिलसिला लगा रहता था। वहीं अधिक गर्मी पड़ने के कारण लोग घरों में दुबक जा रहे हैं। वाहन स्वामी भी परेशान दिख रहे हैं। जिसकी प्रमुख वजह है कि लोगों की आवजाही में कमी का होना। जिन लोगों को बहुत ही आवश्यक कार्य रहता है वे ही घर से बाहर निकल रहे हैं। ऐसे में हर तरफ गर्मी से त्राहिमाम मची है। हर कोई यही कह रहा है कि अपने जीवन काल में ऐसी गर्मी नहीं कभी पड़ी थी। बुजुर्ग लोग यही कह रहे हैं कि हम लोग करीब सत्तर वर्ष के हो गए हैं। लेकिन इतनी अधिक गर्मी कभी नहीं पड़ी थी।

गर्मी से राहत को ठंडे पेय पदार्थों की बढ़ गई है मांग

मऊ। इस समय भीषण गर्मी बढ़ने के साथ ही कोल्ड ड्रिंक, लस्सी, मट्ठा, गन्ने के जूस की डिमांड बढ़ गई है। वहीं, धूप से बचने को लोग टोपी, गमछा, दुपट्टा, स्टाल लगाकर ही घरों से निकल रहे हैं। तेज धूप की सबसे अधिक मार भवन निर्माण श्रमिकों पर पड़ रहा है। अधिकांश निर्माण कार्य ठप्प होने से मजदूरों को काम नहीं मिल रहा हैं, उन्हे लेबर अड्डों से आए दिन निराश होकर लौटना पड़ रहा है, जिससे उनकी रोजी-रोटी का संकट भी गहराता जा रहा है।

गर्मी से कारोबार पर पड़ रहा प्रतिकूल असर

मऊ। भीषण गर्मी की मार का प्रतिकूल असर कारोबार पर पड़ रहा है। तेज धूप और गर्म हवा के चलते दोपहर में शहर समेत अन्य क्षेत्रों के बाजार पूरी तरह सुनसान नजर आ रहे हैं। चिलचिलाती धूप और लू के थपेड़ों की वजह से ग्राहक घरों से नहीं निकल रहे हें। इससे बाजारों की रौनक गायब हो गई है। सिर्फ सुबह नौ बजे तक और शाम को पांच बजे के बाद ही कारोबार होने से दुकानदार खासे निराश हैं, जबकि कस्बों में पटरी दुकानदारों के यहां रहने वाली चहल-पहल भी दिन में कमजोर हो गई है।

अभी गर्मी से नहीं मिलेगी राहत, बढ़ेगा पारा

मऊ। कृषि विज्ञान केंद्र पिलखी के वैज्ञानिक डॉ. विनय कुमार सिंह ने बताया कि अभी मौसम में कोई खास बदलाव नहीं होगा। आसमान में बदली रहने के साथ गर्म हवा जारी रहेगी, जबकि दिन और रात के तापमान में अभी इजाफा होने की भी संभावना है। उन्होंने किसानों से फसलों में हर सप्ताह हल्की सिचाई करने तथा पशुपालकों को अपने पशुओं को दिन में तीन बार पानी पिलाने व सुबह शाम नहलाने की भी सलाह दी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
Advertisement